January 18, 2019
Breaking News

Sign in

Sign up

  • Home
  • News
  • Photo
  • आंगनबाडी कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन

आंगनबाडी कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन

By on July 10, 2018 0 67 Views

जिला मुख्यालय पर जिला महिला आंगनबाड़ी कर्मचारी संघ की आंगनबाड़ी कर्मचारियों ने अपनी मांगों को लेकर रैली निकाल प्रदर्शन कर प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री के नाम कलेक्ट्रेट पहुंच कर जिला कलेक्टर को ज्ञापन दिया,संघ की कार्यकारी अध्यक्ष बताया कि भारत सरकार के महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के द्वारा पूरे देश में वर्ष 1975 से आंगनबाड़ी केन्द्रों के माध्यम से समेकित बाल विकास योजना का संचालन हो रहा है,जिसमें लाखों की संख्या में आंगनबाड़ी कर्मी कार्यकर्ता,सहायिका सहयोगिनी एवं ग्राम साथिन कार्यरत है तथा इस योजना को सफलीभूत कर रही है। जिसके अन्तर्गत 0-6 वर्ष की आयु के बालकों के पोषण एवं प्राथमिक स्वास्थ्य की देखभाल औपचारिक शिक्षा के साथ पूरक आहार उपलब्ध कराने शिशु एवं स्तनपान तथा गर्भवती माता को कुपोषण से बचाने क लिए जरुरी पौषाहार,विटामिन प्रोटीन उपलब्धा कराने का कार्य केन्द्र सरकार को इस स्कीम के तहत आंगनबाड़ी कर्मियों के द्वारा किया जा रहा है,इसके अलावा राज्य शासन के द्वारा बीएलओ, आर्थिक जनगणना, पल्स पोलियों, राशनकार्ड, ओडीएफ आदि कार्य भी आंगनबाड़ी कर्मी कर रही है,इसके अलावा प्रतिदिन के कार्य के घंटो में वृद्धि के साथ सूचना संकलन,पत्रिका के संधारण में कई गुना वृद्धि की गई है,आंगनबाड़ी केन्द्रों तथा फील्ड दोनो जगह मिलाकर 8 घंटे से अधिक का कार्य आंगनबाड़ी कर्मियों को करना पड़ता है,इसके बावजूद भी आंगनबाड़ी कर्मियों को अब तक न ही सरकारी कर्मचारी घोषित किया गया है, ना ही न्यूनतम वेतन भुगतान किया गया है। जिसकी घोषणा 1 अप्रैल 2011 में केन्द्र सरकार में अब से 7 वर्ष पूर्ति नही की गई थी,केन्द्र सरकार ने सामाजिक सुरक्षा पेंशन सहित अन्य सुविधाएं आज तक इनके लिए लागू नही की है,गत 17 नवम्बर 2017 को भारतीय मजदूरों के आव्हार पर दिल्ली रामलीला मैदान से संसद मार्ग पर लाखों की संख्या में आंगनबाड़ी कर्मियों ने प्रदर्शन कर भारत सरकर को मांगों के लिए ज्ञापन प्रेषित किया था,जिस पर पुनरू ध्यानाकर्षण कराने के लिए 11 जनवरी 2018 को पुनरू राष्ट्रव्यापी धरना दिया गया था,साथ ही उन्होंने मांग की है कि ग्रीष्मकालीन व शीतकालीन अवकाश में केन्द्र पूर्ण रुप से बंद किए जाएं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!