January 18, 2019
Breaking News

Sign in

Sign up

  • Home
  • News
  • Photo
  • मदरसे में मिलीं अनियमितताए

मदरसे में मिलीं अनियमितताए

By on July 12, 2018 0 137 Views

टोंक के मदरसों में पोशाहार और दुग्ध योजना की सच्चाई जानने निकले टोंक विधायक अजीत सिंह मेहता को वहां ना सिर्फ पोशाहार और दुग्ध योजना में ही अनियमितताए मिली बल्कि दो मदरसे बंद तो एक मदरसंे मे बच्चों की संख्या षुन्य मिली हैं, जिसपर विधायक ने जहां मदरसा संचालक को लताड़ लगाई, वही अधिकारियों को हाथो-हाथ कार्यवाही के निर्देष दे डाले। वही दूसरी ओर मदरसा संचालक ने इसे राजनैतिक द्वेशता का मामला बताकर मामलें को नया मोड दे दिया हैं। शहर के जिस मदरसें को आदर्ष मदरसा मानकर औचक निरीक्षण करने गए टोंक विधायक अजितसिंह मेहता की भी आंखे फटी की फटी रह गयी जहां ना तो बच्चें मिले ना ही पैराटीचर। दरअसल मदरसो मे अनियमितताओं की षिकायत मिलने पर बुधवार को ब्लाॅक षिक्षा अधिकारी व अल्पंसख्यक कल्याण अधिकारी के साथ विधायक मेहता ने शहर के मदरसों का औच्चक निरीक्षण करने पहुंचे थे जहां उन्होने पुरानी टोंक में एक व छावनी में दो मदरसों मे का औच्चक निरीक्षण किया हैं। वही शहर काजी ताहिरूल इस्लाम के पुरानी टोंक में संचालित मदरसा कालीउल इस्लाम में न तो शिक्षक ही मिले, न मिले छात्र ओर न पोषाहार ओर न दूध की व्यवस्था मिलने से मिल रही षिकायतों को पुख्ता मानकर संचालक को जवाब तलब किया हैं। विधायक मेहता ने कहा कि लगातार मिल रही शिकायतो के बाद शिक्षा अधिकारी और जिला अल्पसंख्यक अधिकारी को साथ लेकर यह निरीक्षण किया गया था जिसमे साफ है कि सरकार की सोच के अनुरूप कोई कार्य वंहा नही हो रहा था बल्कि मदरसे का समय तक संचालक अपने हिसाब से तय किये हुए थे। अब देखना यह होगा कि शहर में संचालित 66 मदरसों में किस तरह अनियमितताएं पकड़ी जाती है। जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी व षिक्षा विभाग के बीईओं के साथ षहर के तीन मदरसों के निरीक्षण के दौरान मिली अनियमितताओं पर जब पुरानी टोंक स्थित मदरसा कालीउल इस्लाम के संचालक शहर काजी ताहीरूल इस्लाम ने कार्यवाही को राजनैतिक द्वेषता का परिणाम बताकर अलग विवाद को हवा दे दी, दरअसल शहर काजी का कहना है कि पिछले दिनों मदरसे में संचालक ने समाजसेवी अकबर खान के माध्यम से बच्चों को पुस्तकों का वितरण किया करवाया था जिसपर मदरसे का समय समाप्त होने के बाद एमएलए ने अधिकारियों के साथ मदरसे का औच्चक निरीक्षण किया। वही निरीक्षण के दौरान मौजूद रही पैराटीचर ने कुछ यही बात कहते हुए मदरसें का बचाव किया वही भले ही मदरसा संचालक इस मामलें को राजनैतिक द्वेशता का परिपूर्ण मामला बताकर खूद को बचाने की बात कर रहे है लेकिन मदरसा संचालक को मिली अनियमितताओं का दोशी मान विभागीय अधिकारियों ने उनपर कार्यवाही की तैयारी कर ली हैं, जहां पोशाहार व दुग्ध योजना के संबंध बीईओं ने जिला षिक्षा अधिकारी को मामलें की जानकारी देकर कार्यवाही के लिए भेज दिया हैं वही अल्पसंख्यक अधिकारी ने भी विभाग के नियमानुसार कार्यवाही की बात कही हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!