January 18, 2019
Breaking News

Sign in

Sign up

  • Home
  • News
  • Photo
  • तेज रफ्तार के कहर से 13 लोगो की मौत

तेज रफ्तार के कहर से 13 लोगो की मौत

By on November 10, 2018 0 51 Views

 

राज्य में पिछले 24 घंटे में रफ्तार के कहर ने 13 लोगों की जान ले ली। पिछले 24 घंटो में तीन जगह अलग-अलग सड़क हादसे हुए जिसमें 13 लोगों की जान चली गई। शुक्रवार देर रात राष्ट्रीय राजमार्ग 68 पर गांधव बस स्टैंड के पास हाइवे क्रॉस करने के दौरान टैक्सी और टैंकर की टक्कर में 6 लोग मारे गए। बूंदी-जयपुर नेशनल हाइवे-52 पर शुक्रवार की ही शाम सथूर मोड़ पर तीन लोगों को ट्रक चालक ने कुचल दिया। वहीं, गुरूवार देर रात दिवाली पर रिश्तेदार के घर बर्थ-डे पार्टी मनाकर लौट रहे चार लोगों की सड़क हादसे में मौत हो गई। पहला हादसे की वजह गांधव बस स्टैंड के पास टैक्सी का अचानक टर्न लेना रही। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक चालक ने अचानक टर्न ले लिया, लेकिन तेज रफ्तार से आ रहे टैंकर को नहीं देखा। थानाधिकारी किशनलाल विश्नोई ने बताया कि गिड़ा (सेड़वा) निवासी परिवार के लोग रिश्तेदार में मौत पर शोकसभा में गए हुए थे। लौटते समय गांधव बस स्टैंड के पास हाइवे से अचानक टर्न लेकर क्रॉस कर रहे थे, तभी तेज गति से आ रहे टैंकर ने टैक्सी को चपेट में ले लिया। हादसा इतना भीषण था कि टैंकर टैक्सी के ऊपर चढ़ गया। हादसे में टैक्सी में सवार प्रबोदेवी पत्नी पीराराम कोली निवासी गिड़ा, हुजूदेवी पत्नी लखमणाराम कोली, जोरा देवी पत्नी भीमाराम कोली निवासी पनोरिया की मौके पर ही मौत हो गई। शांता देवी पत्नी बाबूलाल कोली निवासी गिड़ा, पीराराम पुत्र लाखमणाराम कोली, भीमाराम पुत्र पूनमाराम निवासी पनोरिया ने सांचोर अस्पताल पहुंचने पर दम तोड़ दिया। घायल नजगीराम पुत्र मानराम कोली, लच्छीराम पुत्र लालाराम कोली का सांचोर और भूरी देवी पत्नी देदाराम कोली का गुड़ामालानी अस्पताल में इलाज चल रहा है। पुलिस ने टैंकर को कब्जे में लेकर आदर्श चवा (बाड़मेर) निवासी चालक देदाराम जाट को हिरासत में लिया है। दूसरा हादसा बूंदी-जयपुर नेशनल हाइवे-52 पर हुआ। जहां कुछ युवक ढाबे पर बैठेे थे और दुर्घटनाग्रस्त ऑल्टो कार को एक तरफ करने गए थे। इस बीच रफ्तार से आ रहे ट्रक के चालक ने उन्हें कुचल दिया। बूंदी अस्पताल में भर्ती घायल का नाम शंभु नायक (35) निवासी नायक मोहल्ला बूंदी का रहने वाला बताया है। वहीं मृतकों में रामकिशन बैरवा (22) पुत्र केसरीलाल निवासी बरुंधन-तालेड़ा, दूसरे का नाम मुकेश योगी (23) पुत्र किशननाथ निवासी जैतपुर-देई बताया जा रहा है। तीसरे मृतक की अभी तक शिनाख्त नहीं हुई है।

तीसरा हादसा छापी और बिछीवाड़ा के बीच हुआ। गुरुवार देर रात एक बाइक को बचाने के प्रयास में एंबुलेंस-बस से जा भिड़ी। एंबुलेंस घायल चार लोगों को अस्पताल ले जा रही थी, तभी बिछीवाड़ा की ओर से सामने से आई बस के चालक ने अचानक स्टेयरिंग मोड़ दी। इससे एंबुलेंस से इतनी जोरदार टक्कर हो गई कि उसमें बैठे एंबुलेंस चालक भरतपुर निवासी थानसिंह, ललिता (28), साहिल (12), कोकिला (40) सहित 4 लोगों की मौत हो गई। दोनों वाहनों में सवार 10 लोग भी गंभीर घायल हो गए। हादसे के बाद भीड़ इतनी आक्रोशित हो गई कि बस में बैठी सवारियों को उतारने के बाद उसमें आग लगा दी। मौके पर पहुंची पुलिस को भी लोगों के गुस्से का सामना करना पड़ा और पथराव कर दिया। पुलिस ने लोगों को काबू किया। एंबुलेंस के अंदर फंसे चालक को करीब एक घंटे की मशक्कत के बाद शव को बाहर निकाला जा सका। बस चालक फरार है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!