January 18, 2019
Breaking News

Sign in

Sign up

  • Home
  • News
  • Photo
  • कहा बरामद हुए 34 लाख 45 हजार

कहा बरामद हुए 34 लाख 45 हजार

By on August 2, 2018 0 559 Views

ऑनलाइन ठगों से 34 लाख 50 हजार बरामद।

टोंक पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी ।

एंकर:- ऑनलाइन ठगी के मामले में टोंक पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है एक करोड़ 31 लाख की ऑनलाइन ठगी के पकड़े गए आरोपियों से पुलिस ने जंहा 23 लाख 30 हजार की नकद राशि बरामद की है वही आरोपियों के बैंक खातों में जमा 11 लाख 45 हजार रुपये सीज करवा दिए गए है,साथ ही फर्जीवाड़े के सारे उपकरण पुलिस ने बरामद किए है टोंक के इतिहास में यह एक बड़ी कामयाबी है जो कि पुलिस अधीक्षक योगेश दाधीच सहित पूरी टीम के प्रयासों की बदौलत हासिल हुई है।

टोंक पुलिस ने ऑनलाइन ठगी की एक ऐसी वारदात का खुलासा किया हैं जिसमें दिल्ली में बैठे ठगों ने एक किसान को लगाया था एक करोड़ 31 लाख का चूना। इसपर साइबर सेल ने दिल्ली में बैठे छह ठगों को गिरफ्तार किया हैं। 
उल्लेखनीय है कि टोंक में बीमा कंपनी के क्लेम से ठगी की एक वारदात शुरू हुई और क्लेम के करोडों के रूपए के ख्वाब दिखाकर टोडारायसिंह के बालूराम से ठगों ने छह माह के अंदर एक करोड 31 लाख रूपए अपने फर्जी खातों में ट्रांसफर करवा लिए थे और ठगी का यह सिलसिला वही नही रुका था उसके बाद इनकम टेक्स अधिकारी बनकर उसी बालूराम को धमकाना शुरू कर दिया था, यहां तक कि आरबीआई के नाम से उसके मोबाइल पर मैसेज किए गए। बस यही से यह शातिर ठग मात खा गए और बालूराम पहुंच गया टोंक पुलिस की शरण में उसके बाद टोंक
पुलिस ने साइबर सेल की मदद से शुरू की इन ठगों के खुलासे योजना और आखिर चढ़ ही गए 6 ठग पुलिस के हत्थे लेकिन पुलिस के सामने बड़ी चुनोती थी ठगी की राशि की रिकवरी जिसमे पुलिस ने बड़ी कामयाबी हासिल की है।
ऑनलाइन ठगी के ऐसे कई मामले टोंक पुलिस के पास पहले से विचाराधीन थे ऐसे में पुलिस के भी उस समय हौंश उड गए थे जब एक करोड 31 लाख की अपने साथ ही ठगी के सबूत लेकर पीडीत बालूराम पुलिस के पास पहुंचा। ऐसे में खूद पुलिस अधीक्षक योगेश दाधीच नें एडीशनल एसपी के नेतृत्व में टीम गठित कर मामलें की परते खोलनी शुरू की तो पूरा खेल फर्जीवाड़े का नजर आया, जिसमें ठग गिरोह के सभी नाम फर्जी मिले, बैंक अकाउंट में लगी आइडी फर्जी मिली और तमाम पते भी फर्जी मिले, यहां कि इस ठग गिरोह ने बीमा कंपनियों से डाटा भी फर्जी तरीके से ले रखे थे। पुलिस ने इस मामलें मुख्य सरगना विकास कपूर उर्फ विषाल गोयल उर्फ सुहेल आलम सहित छह आरोपियों को जाल बिछाकर दिल्ली और यूपी में अलग-अलग जगहों से गिरफ्तार किया गया था और टोंक पुलिस को ऑनलाइन ठगी के बड़े मामलों के खुलने की उम्मीद तो थी ही सही वही बड़ी जरूरत इस बात की थी कि पुलिस पीड़ित की राशि ठगों से बरामद करें और इस मामले में पुलिस अधीक्षक ओर उनकी टीम ने एक बड़ी कामयाबी 34 लाख 45 हजार की राशि बरामद करके हासिल कर ली है।
Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!