January 17, 2019
Breaking News

Sign in

Sign up

बघेरे ने उड़ाई नींद…!

By on October 26, 2018 0 39 Views

शाहपुरा में बघेरा दिखने से लोगों में दहशत।

शाहपुरा के खोरी, शेरपुरा, बिदारा एवं पीपलोद ग्राम क्षेत्र में पिछले कई दिनों से बघेरे की आवाजाही बढ़ने से लोगों में दहशत का माहौल बना हुआ है। क्षेत्र के लोगों ने वन विभाग से वन्यजीव को पकड़कर राहत दिलाने की मांग की। लेकिन अभी तक विभाग कि तरफ से कोई कार्रवाई नहीं हुई है। शाहपुरा के खोरी ग्राम के गुल्ली का मोहल्ला, हालोला मोहल्ला, बाजार के समीप पिछले कई दिनों से लोगों को लगातार बघेरा नजर आने से क्षेत्र के लोगो में खौफ का माहौल बना हुआ है। मामराज सैन, कमलेश शर्मा, मदनलाल शर्मा आदि ने बताया कि दो दिन पहले रात को करीब 9 बजे ही हालोला के मोहल्ले में बघेरे की हलचल होने से लोगों में दहशत फैल गई। लोग टार्च के सहारे हाथों में लाठी लेकर पहुंचे, लेकिन उससे पहले ही बघेरा जंगल की तरफ भाग गया। अंकित सोनी ने बताया कि बाजार के समीप भी आजकल रात को बघेरे की हलचल हो रही है ओर कुछ समय पहले बघेरा एक सुअर के बच्चे को उठा ले गया। गुल्ली का मोहल्ले में भी बघेरे की आवाजाही होने पर लोगों ने पहाड़ी में खदेड़ दिया। बघेरे ने अब तक कई मवेशियों को अपना शिकार बना चुका है। इसी प्रकार बिदारा, पीपलोद गांव में भी पैंथर की आवाजाही होने से लोग दहशत में है। शिकायत पर खोरी पहुंची वनकर्मियों की टीम ने वन्यजीव के पदचिह्नों की जांच की। लोगों ने बताया कि पहाड़ी में लोगों ने कई बार पैंथर की हलचल देखी है। हालांकि वन विभाग ने बिदारा में पैंथर को पकड़ने के लिए पिंजरा भी लगा रखा है, लेकिन वह पिंजरे में नहीं आया। देखने वाली बात यह होगी कि कब तक आखिर वन्यजीव की लोगों के दिलों में दहशत बनी रहेगी। याद रहे कि इससे पहले भी इस तरह की सुचनाओं की खबर मिली थी। छह माह में ही आधा दर्जन गांवों में वन्यजीवों के आने की शिकायतें आ चुकी है। बारिश कम होने से वनक्षेत्र के अधिकतर जलाशय सूखे पड़े है। इससे वनक्षेत्र में वन्यजीवों को पानी नहीं मिल पा रहा है। वन रेंज क्षेत्र के जंगलात में वन्य जीवों के लिए बनाए कुण्ड, खेळी, टांके, एनीकट, तलाई और अन्य जलस्रोत रीते है। ऐसे में भोजन पानी की तलाश में वन्यजीव आबादी क्षेत्र कि ओर घुस रहे है। वन विभाग के अधिकारियों के मुताबिक वन्यजीव आम जन को कोई नुकसान पहुंचाए उससे पहले वन्यजीवों को पकड़ने की हर संभव कोशिश की जा रही है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!