October 16, 2018
Breaking News

Sign in

Sign up

  • Home
  • Tonk Special
  • सर्वजातिय निशुल्क सामूहिक तर्पण…

सर्वजातिय निशुल्क सामूहिक तर्पण…

By on October 8, 2018 0 12 Views
 टोंक (कमलेश कुमार)    श्राद्ध पक्ष में शास्त्र सम्मत तरीके से अपने पुर्वजों का तर्पण करना जितना आम है उतना ही उसके लिये आचार्यो की मोटी दक्षिणा सहित हजारों रूपये का खर्च होना आम है। लेकिन टोंक की जीवनदायनी नदी बनास में आज सनातन धर्म से जुडी सभी जातियों के लिये निषुल्क तर्पण का आयोजन किया गया, जिसमें सभी वर्गो से जुडे हजारों लोगों ने अपने पूर्णजो और देवताओं के साथ-साथ देष की रक्षा मे शहीद होने वाले जवानों को भी तर्पण कर श्रद्धांजलि दी।टोंक की बनास नदी पर भले ही पिछले एक दशक से बजरी खनन और उसपर चलती सैंकडों पोकलेंड मशीन के लिये जानी जाने लगी है, आज बनास नदी के तट पर सनातन धर्म से जुडे सभी वर्गो के लिये पंडित जगदीश नारायण स्मृति मंच एवं वैदिक शोध संस्थान की ओर से सर्वजातीय निशुल्क तर्पण का आयोजन किया गया। क्योंकि जहां सनातन धर्म को छूआ-छूत और ऊच-नीच से जोडा जाता हैं वही पिछले तीन सालों से हो रहे इस आयोजन में सनातन धर्म से जुडे चारों वर्णो ब्राह्मण, क्षत्रिय, सुद्र एवं वैश्य एक साथ पूरे वैदिक मंत्रोंचारण के बीच अपने पूर्वजों की याद में तर्पण कर उन्हे श्रद्धाजंलि देते हैं जो अपने आम में एक मिसाल है। दरअसल सनातन धर्म के अनुयायी हिन्दू समाज की श्राद्ध पक्ष में यह मान्यता है कि इस दौरान अपने पुर्वजों की आत्मा की शान्ति के लिये पितृ तर्पण किया जाता है श्राद्ध पक्ष मे पितृ धरती पर उतर आते है और श्रादपक्ष मे पितृो का तर्पण करने वह प्रसन्न होते है और आर्शिवाद देते है जिससें परिवारों मे सम्पन्नता आती है सुख-समृद्धि मे बढोत्तरी होती है, साथ ही इसका उद्देशय बताते हुये आयोजक पंडित पवन सागर ने कहा कि वर्तमान के भौतिक युग मे लोग श्राद्ध और पितृ तर्पण से दूर हो रहे है और सभी जातियों को एक साथ लेकर उनके पितृों का तर्णन कराकर सनातन धर्म की एक माला मे पिरोना है। वही इस बार टोंक जिले से ही नही अपितू जयपुर, कोटा, बीकानेर सहित राज्य के अन्य जिलों व राजस्थान के बाहर से भी लोग सामुहिक तर्पण में पहुंचे थे।

हम आपकों बता दे व्यक्तिगत रूप से पडिंतों व विद्वानों के सानिध्य मे अपने पुर्वजों की शान्ति के लिये सम्पूर्ण श्राद्ध पक्ष के दौरान लोग अपने-अपने तरीकें से तर्पण कर उन्हे श्रद्धांजलि देते है लेकिन डॉ. पंडित पवन सागर के नेतृत्व मे टोंक शहर के पण्डितों ने सभी जातियों को एक साथ लाकर ना सिर्फ उनके पुर्वजों और देवताओं बल्कि देश के लिये अपनी जान न्यौछावर करने वाले शहीदों के लिये भी तर्पण किया, शहर की बनास नदी के फ्रेजर ब्रिज के पास तट पर तीन चरणों में हजारों शहरवासियों ने शहीदों को श्रद्धांजलि दी और उनकी आत्मा की शान्ति के लिये नदी के जल खडे होकर तर्पण किया, जिसमें शामिल होने वाले भाजपा जिलाध्यक्ष गणेष माहूर सहित कई लोगो ने इसकी प्रशंसा करते हुए इस आयोज

न के बार-बार होने की कामना की।

सर्वजातिय निशुल्क तर्पण कार्यक्रम मे आयोजकों द्वारा आने वाले लोगो को जहां तर्पण सामग्री से लेकर आचार्यो की दक्षिणा से मुक्त रखा गया। वही सभी एकजुट रहने के साथ ही देश के शहीदों को उनके बलिदान के लिए सामुहिक तर्पण में आए लोगो ने तर्पण कर श्रद्धांजलि दी। वही इस इस बार इस आयोजन में महिलाओं की भी अच्छी खासी तादात रही।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *