November 13, 2018
Breaking News

Sign in

Sign up

  • Home
  • News
  • Photo
  • फर्जी सहायक उपनिरीक्षक गिरफ्तार…

फर्जी सहायक उपनिरीक्षक गिरफ्तार…

By on September 25, 2018 0 305 Views

अवैध बजरी के ट्रकों को निकलवाने को लेकर करते थे वसूली…

टोंक। जिले के पीपलू थाना पुलिस ने अवैध बजरी के ट्रकों से पुलिस के नाम पर अवैध वसूली कर ट्रकों को पास करवाने वाले गिरोह का पर्दापाश करने में सफलता हासिल की है। पीपलू थानाप्रभारी अशोक मीणा ने बताया कि सोमवार रात को उनके साथ कानिस्टेबल सांवरमल, रूपकिशोर, शंकरलाल, रामराज, रामप्रसाद गश्त को लेकर पीपलू से रवाना हुए। जो पीपलू, नाथड़ी, कुरेडा, गहलोद होते हुए गाता पहुंचे। इस दौरान मुखबिर सूचना मिली कि इब्राहिमपुरा ठाठा मोड़ पर नानेर के पीयूष जाट, राधेश्याम जाट, राजेश मीणा व एक दो अन्य व्यक्ति एक बोलेरों व मोटरसाइकिल लेकर खड़े है। जिनके साथ एक व्यक्ति पुलिस की वर्दी में भी है। जो पुलिस के नाम से बजरी के ट्रकों से अवैध वसूली कर उनको पास करवा रहे है। ऐसे में मय पुलिस जाब्ता वह इब्राहिमपुरा ठाठा मोड पहुंचे तो एक बोलेरो व एक मोटरसाइकिल लेकर 4-5 व्यक्ति खड़े नजर आए। जो पुलिस की गाड़ी देखकर बोलेरो में बैठकर नानेर की तरफ भाग गए। खाकी रंग की वर्दी पहने हुए एक व्यक्ति को पकडने में सफलता हासिल की। जिसने सीआईसीएफ का मोनोग्राम, लाल चमड़े की सीआईसीएफ की बेल्ट, लाल जूते पहने हुए थे। जिससे ूछताछ में उसने अपना नाम ओमप्रकाश चैधरी पुत्र प्रहलाद जाट निवासी गढ के सामने थाना मेहन्दवास बताया। उसने कहा कि वह सीबीआई में उपनिरीक्षक है और कार्ड भी बताया। सीबीआई का कार्ड व सीआईसीएफ की वर्दी में भिन्नता होने पर शक के आधार पर कठोरता से पूछताछ की गई। जिस पर उसने बताया कि उसके मामा का लडका पीयूष बनास नदी में से बजरी भरकर ट्रक भरवाते हुए पास करवाता है। पुलिस के नाम से डराते हुए एन्ट्री के नाम पर ट्रक वालों से पैसे वसूल करते है। आनाकानी करने पर पुलिस का रौब दिखाने के लिए कभी कभी वर्दीलगवाकर मुझे बुलवा लेते है। आज भी मेरे मामा के लडके पीयूष, राधेश्याम जाट, राजेश मीणा व एक दो अन्य लडके जिनके नाम मैं नहीं जानता के साथ यहां पर आकर बजरी के ट्रकों को निकलवाकर पुलिस के नाम पर वसूली कर रहे थे। मौके पर खडी मोटरसाइकिल पर आगे पुलिस व पीछे पुलिस का मोनाग्राम अंकित होने पर उसने अपनी होना बताया। साथ में एक थैली मिली, जिसमें सीआईएसएफ की पीटी डे्रस एक चितकबरे रंग की पेंट, एक काले व एक सफेद रंग की टीशर्ट, जिस पर भी सीआईसीएफ का मोनाग्राम, तिरंगा छपा हुआ तथा काले रंग का बेल्ट मिला। ओमप्रकाश चैधरी द्वारा सीआईसीएफ पुलिस विभाग में पदस्थापित नहीं होकर सहायक उपनिरीक्षक की वर्दीधारण करना तथा सीबीआई का फर्जी कार्डबनवाकर उसको असली रूप में उपयोग लेकर बजरी के ट्रकों से अवैध वसूली करना पाया गया। पुलिस ने उसको गिरफ्तार करने सहित सभी सामान जब्त किए है। साथ ही कई धाराओं में मामला दर्जकर जांच शुरू की है।
Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!