November 20, 2018
Breaking News

Sign in

Sign up

बाड़मेर में गरजी वसुंधरा राजे।

By on September 2, 2018 0 119 Views

विकास के नए आयाम किये स्थापित:वसुंधरा राजे

वसुंधरा का बाड़मेर की जनता से वादा पानी की समस्या करेंगे दूर।

राजस्थान की मुख्यमंत्री को भले ही मारवाड़ की धरती पर कई जगह विरोध और पोस्टर वार का सामना करना पड़ रहा हो पर आत्म विश्वाश में वसुंधरा राजे के कोई कमी नही आई है और एक बार फिर से राजस्थान में सरकार बनाने को वह जनता से सरकार के कार्यकाल की उपलब्धिया गिनाते हुए अपने लिए समर्थन मांग रही है।
बाड़मेर को विकास की नई राह दिखाने ओर  प्रदेश का अग्रणी जिला बनानेबक वादा करने से भी वसुंधरा राजे जनसभाओं में नही चुकी तो बिजली-पानी के मुद्दों पर भी खूब बोली ओर कहा कि वह दिन दूर नहीं जब बाड़मेर जिले का नाम भी प्रदेश के अग्रणी जिलों में शामिल होगा ओर बाड़मेर जिला विकास की नई कहानी लिखेगा अब मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को यह कोंन समझाए की विकास की बड़ी बड़ी बातें उस समय बेमानी लगती है जब कि पाकिस्तानी सीमा से सटे बाड़मेर की जनता को पीने का पानी भी ढंग से उनकी सरकार उपलब्ध नही करा सकी है ऐसे में अग्रणी जिले की बात जनता के गले कितना उतरती है यह देखने वाली बात होगी।
 बाड़मेर जिले में पीने के पानी की कमी की समस्या किसी से छिपी नही है ऐसे में वसुंधरा के भाषण में जिले की मुख्य समस्या पानी की समस्या समेत अन्य सभी समस्याओं को ठोस कदम उठाकर दूर किया जा रहा है जैसा वादा ओर उनका यह कहना कि आधारभूत संरचनाओं को सुदृढ़ किया जा रहा है अजीब सा लगता है कि आखिर साढ़े चार से अधिक समय तक बाड़मेर को लेकर सरकार ने किया तो क्या किया।
वसुंधरा राजे ने कहा कि तीन महत्वर्पूर्ण परियोजनाओं से बाड़मेर जिले में मीठे पेयजल की व्यवस्था कर पेयजल की समस्या दूर कर दी जाएगी  ओर राजस्थान में सड़क विकास पर सबसे ज्यादा 6 हजार 100 करोड़ बाड़मेर में खर्च किया है तो इसी तरह रिफायनरी, पेटोलियम स्किल डवलपमेंट स्कूल, अत्याधुनिक अस्पताल, मेडिकल कॉलेज की स्थापना और हर क्षेत्र में दिखाई देता विकास बाड़मेर को हर दिन आगे बढ़ा रहा है। मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने  बाडमेर के बायतू विधानसभा क्षेत्र के पराऊ में विभिन्न विकास कार्योंं के लोकार्पण एवं शिलान्यास समारोह को सम्बोधित करते हुए यह बात कही।
उन्होंने कहा कि क्षेत्र की सबसे बड़ी समस्या और लोगों की सबसे बड़ी मांग मीठे पानी की कमी थी। हमने पोखरण-फलसूण्ड-बालोतरा-सिवाना वृहद् पेयजल योजना में तीन शहर और 363 गांवों तक मीठा पानी लाने का काम प्रारम्भ किया था। यह एक मुश्किल परियोजना है जिसमें जमीन काटने की जरूरत पड़ी और संवेदक ने काम बीच में ही छोड़ दिया। लेकिन इस बार पिछले साढे़ चार साल में 1427 करोड़ रू खर्च कर बहुत बडी पाइप लाइन पोकरण-फलसुण्ड-बीलिया-उजला -माण्डवा-भीमियाना-भीखोरोई-गिडा-समता-भाकरी-बागुण्डी-तिलवाडा-जसोल-बालोतरा तक डाली जा चुकी है। इसमें पोकरण और जैसलमेर को पानी पिलाने के साथ ही बालोतरा-सिवाना तक के 386 गांवों को मीठा पानी उपलब्ध करा दिया गया है। बायतू के 192 गांवों के लिए अलग व्यवस्था कर मीठा पानी पिलाने का काम किया जा रहा है।
 राजे ने कहा कि इसी प्रकार बाड़मेर लिफ्ट परियोजना में बाड़मेर के 58 और बायतू के 76 गांवों में पानीपहुंचा दिया गया है। बायतू के शेष रहे गांवों में भी कुछ ही दिन में मीठा पानी पहुुुंच जाएगा। इसके साथ ही उम्मेद सागर योजना में धवा-समदड़ी-खण्डर योजना में पाटोली पंचायत समिति में बायतू के 38 गांव में भी पानी उपलब्ध कराया जा रहा है।
Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!