March 20, 2019
Breaking News

Sign in

Sign up

  • Home
  • News
  • Photo
  • बेखोफ दौडते खनन माफियाओ के वाहन…

बेखोफ दौडते खनन माफियाओ के वाहन…

By on October 21, 2018 0 107 Views

टोंक पुलिस नुक्कड़-चौराहों पर चालान काटने में व्यस्त..

टोंक। टोंक शहर में पत्थर खननकर्ताओं के हौंसलें इतने बुलंद है कि आए-दिन उनके ट्रेक्टर-ट्रालियों से सड़क दुर्घटनाए होती हैं उसके बावजूद अवैध रूप से पत्थरों भरकर वह ट्रेक्टर-ट्रालियां दौडाते हैं आज भी कुछ ऐसा ही हुआ जब छावनी क्षेत्र में सड़क के पास खेल रहे बच्चे अवैध रूप से पत्थर खनन कर लाई ट्रेक्टर-ट्राली की चपेट में आने से बच गए। जिसपर आस-पास लोगो ने उसे रोक लिया हैं लेकिन ट्रेक्टर-ट्रॉली के चालक ने अपने साथी को मामलें की सूचना दी और कुछ देर में आए कुछ खनन माफिया उसे सकुशल छुडाकर ले गए हैं। टोंक भले ही चारों ओर अरावली पहाड़ियों से घिरा खुबसुरत षहर नजर आता हैं लेकिन यहां पर अवैध रूप से पत्थर का खनन करने वालो माफियाओं के कारण इस खुबसुरत शहर की सुबह पहाड़ों पर होती अवैध ब्लास्टिंग से होती हैं और दिनभर अवैध खनन कर पत्थर से लदी टेªक्टर-ट्रालिया सडकों पर बेखोफ होकर दौडती हैं मजाल है कि कोई पुलिस, प्रशासन वनविभाग का कोई कारिंदे उनपर कार्यवाही कर दे।
आज दोपहर भी कुछ ऐसा ही हुआ जब कि छावनी पुलिया की ओर से चेजा पत्थर से लदी ट्रेक्टर-ट्रॉली तेज रफ्तार से आ रही थी कि  गोकूलधाम कॉलोनी के बाहर तीन मासूम बच्चें उसकी चपेट में आते उससे पहले राहगीरों ने बच्चों को बचा लिया। जिसके बाद गुस्साए लोगो ने ट्रेक्टर-ट्रॉली को रोक लिया। हंगामा होते देख छावनी के आस-पास खुफिया पुलिस की तरह मौजूद रहने वाले ट्रेक्टर-ट्रॉली चालक साथी आ गए और लोगो के विरोध के बावजूद बड़े आराम से अपने ट्रेक्टर-ट्रॉली छुडाकर ले गए। लेकिन इसे संबंधित पुलिस थाने की अकर्मणयता ही कहेंगे कि काफी देर तक ट्रेक्टर-ट्रॉली चालक और स्थानीय लोगो में हुई बहस के बावजूद कोई पुलिसकर्मी वहां नही पहुंचा। हम आपकों बता दे तेज रफ्तार से दौडती यह ट्रेक्टर-ट्रॉलियों से कई बार सड़क दुर्घटनाए भी हुई हैं लेकिन पत्थर माफियाओं अपने रसूक और पैसों के बल पर आसानी से बच जाते हैं। जबकि नुक्कड़-चौराहों पर यातायात नियमों के बहाने चालान के काटने बैठे पुलिसकर्मियों के सामने से पत्थरों से भी ट्रेक्टर-ट्रालियां गुजर जाती हैं और मुक दर्षक बनने के सिवा कुछ नही कर पाते हैं।
Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!