January 19, 2019
Breaking News

Sign in

Sign up

  • Home
  • Interview
  • Politician
  • दुबई और जयपुर के बीच जवाहरात व्यापार बढ़ने की व्यापक संभावना

दुबई और जयपुर के बीच जवाहरात व्यापार बढ़ने की व्यापक संभावना

By on December 22, 2018 0 28 Views

दुबई मल्टी कमोडिटिज सेंटर ( डीएमसीसी ) के चेयरमेन, अहमद बिन सुलेयम ने आज कहा कि जयपुर एवं दुबई के बीच और अधिक सक्रिय व्यापारिक सम्बन्धों की व्यापक संभावना है। वे जयपुर ज्वैलरी षो ( जेजेएस ) के 15वें संस्करण के मुख्य अतिथि के रूप में उद्धाटन समारोह में सम्बोधित कर रहे थे। दिसम्बर षो के नाम से प्रसिद्ध जेजेएस की आज सीतापुरा स्थित जेईसीसी में षुरूआत हुई। जैम्स एवं ज्वैलरी क्षेत्र से जुडे़ लोगों में उत्साह के साथ आज जेजएस की शुरूआत हुई और इसके पहले ही दिन यहां 7,500 से अधिक विजिटर्स उमड़े।

सुलेयम यने जैम्स एवं ज्वैलरी के मार्केट, इसकी चुनौतियों एवं इनसे निपटने के लिए इस व्यवसाय से जुड़े जयपुर के जौहरियों द्वारा अपनाई जा रही रणनीतियों को समझने के लिए भारत के अन्य शहरों के जैम्स एवं ज्वैलरी से जुड़े लोगों के साथ मिलकर कार्य किए जाने की आवश्यकता जताई। उन्होंने कहा कि गुलाबी नगर में जैम्स एवं ज्वैलरी की मैन्यूफैकरिंग एवं प्रोसेसिंग को समझने के लिए वे फिर से जयपुर आना चाहेगें और जायपुर-दुबई के व्यापारिसक रिष्तों को बेहतर बनाने की दिषा में काम करना चाहेंगे।

उन्होंने कुन्दन मीना-ज्वैलरी देखकर सुखद आष्चर्य व्यक्त किया और कहा कि इसकी दुबई में भी सभावनाएं हैं। इस अवसर पर ज्वैलरी एक्सपोर्ट प्रमोषन काउंसिल (जीजेईपीसी) के चेयरमेन प्रमोद अग्रवाल गेस्ट आॅफ आॅनर थे। उन्होंने कहा कि जैम एवं ज्वैलरी इंडस्ट्री में रंगीन रतों हस्तनिर्मित आभुशणों एवं कुंदन मीना ज्वैलरी को बढ़ावा देने में जेजेएस अत्यंत महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। वर्तमान में देश का यह उघोग 41 बिलियन अमेरिकन डालर का हो गया है। और आगामी वर्शो में इसके 71 बिलियन अमेरिकन डालर करने का लक्ष्य रखा गया है। अग्रवाल ने जयपुर मे जैम टेस्टिंग लेबोंरेटरी की स्थापना के लिए काउंसिल द्वारा 5.5 करोड़ रूपए राषि की स्वीकृती कराने के निर्णय की घोशणा की।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!