March 22, 2019
Breaking News

Sign in

Sign up

  • Home
  • Interview
  • Social Workers
  • मुख्यमंत्री का विधायक व हाई कमान करेगा फैसला : गहलोत

मुख्यमंत्री का विधायक व हाई कमान करेगा फैसला : गहलोत

By on November 21, 2018 0 90 Views

केन्द्र और राज्य सरकार पर जमकर बरसे गहलोत।

 

प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जोधपुर में मंगलवार को एक सम्मेलन को सम्बोधित किया। जिसमें कौन बनेगा मुख्यमंत्री के सवाल पर गहलोत ने कहा, कांग्रेस की तरफ से मुख्यमंत्री पद के कई दावेदार है। पहली बार मुख्यमंत्री बनने के दावेदारों के नाम का खुलासा करते हुए उन्होंने कहा कि जिसे पार्टी के विधायक और हाई कमान चाहेगा, वहीं मुख्यमंत्री बनेगा और वे सभी को मान्य होगा।

कांग्रेस की जीत के प्रति आश्वस्त गहलोत मंगलवार को पत्रकारों के साथ बातचीत में काफी तरोताजा नजर आए। कई दिन से जारी भागदौड़ के बावजूद अपने चेहरे पर छाई ताजगी का राज बताते हुए उन्होंने कहा कि हमेशा पॉजिटिव सोच रखता हूं। इस कारण चाहे कितना भी काम कर लूं मुझे थकान का अहसास नहीं होता। गहलोत ने कहा कि लालचंद कटारिया, रामेश्वर डूडी, सचिन पायलट, डॉ. सीपी जोशी, गिरीजा व्यास व रघु शर्मा सहित कई लोग मुख्यमंत्री बनने में सक्षम हैं। इन सभी के नाम गिनाते हुए गहलोत ने खुद के नाम का जिक्र नहीं किया।

केन्द्र सरकार पर हमला बोलते हुए गहलोत ने सीबीआई, आरबीआई सहित अन्य संस्थाओं का उदाहरण देते हुए कहा कि सुनियोजित तरीके से देश में संवेधानिक संस्थाओं को समाप्त किया जा रहा है। केन्द्र सरकार पर भ्रष्टाचार के कई आरोप लग रहे है, लेकिन इसके खिलाफ कोई एक्शन तो दूर सरकार जवाब तक देने से कतरा रही है। सीबीआई में मची रार को लेकर उन्होंने कहा प्रधानमंत्री मोदी के खास राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार पर जांच प्रभावित करने के आरोप लग रहे है और एक केन्द्रीय मंत्री पर रिश्वत लेने के आरोप अब अधिकारी तक लगा रहे है, लेकिन सरकार ने मौन धारण कर रखा है। सरकार से एक बोल तक नहीं बोला जा रहा। जबकि ऐसे दागियों को तुरंत पद से हटा देना चाहिये।

राज्य सरकार पर बरसते हुए गहलोत ने कहा कि जनता ने भारी बहुमत प्रदान कर भाजपा को सत्ता सौंपी, लेकिन इन लोगों ने कभी जनता की सुध नहीं ली। प्रदेश में विकास कार्य थम गए। मुख्यमंत्री ने कभी आम जनता की समस्याओं पर ध्यान ही नहीं दिया। अब ये लोग किस मुंह से वोट मांग रहे है। इनके काम नहीं करने के कारण राजस्थान पिछड़ गया। किसानों की हालत खराब है। ऐसा पहली बार हुआ कि देश में सबसे मजबूत माने जाने वाले राजस्थान के किसान तक को आत्महत्या करनी पड़ रही है। युवा रोजगार को तरस रहे है। गहलोत ने कहा कि मेरे से वैर भाव रखने के कारण राज्य सरकार ने समूचे मारवाड़ में विकास कार्यों पर रोक लगा दी। मेरे कारण लोगों को पीड़ा भोगनी पड़ी। इसलिए मैं सभी से माफी मांगता हूं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!