September 25, 2018
Breaking News

Sign in

Sign up

  • Home
  • Tonk Special
  • मोबाईल टाॅवर रेडिएशन की गिरफ्त मे शहर..

मोबाईल टाॅवर रेडिएशन की गिरफ्त मे शहर..

By on July 18, 2018 0 50 Views

राजस्थान के लखनऊ कहे जाने वाला टोंक शहर भले पहले अपने नवाबीयत के लिये जाना जाता था, लेकिन पिछले सालों से षहर मे अंधाधुंध लगे मोबाईल टावरों से क्षेत्र मे रेडिएशन का खतरा मंडरा रहा है, सबसे ज्यादा खतरनाक स्थिती उन मासूमों की है जिनकी स्कूलों के आस-पास मोबाईल टाॅवर लगे है, लेकिन नगर परिषद और जिला प्रशासन इस खतरे अंजान बन बैठे है, वही डाॅक्टरों के अनुसार टोंक मे रेडिएशन के चलते कई घातक बिमारियां पैर पसार रही है, टोंक के एक निजी स्कूल के खेल मैदान मे भले ही बच्चे खेलकूद कर अपनी शारीरिक दक्षता बढाने की सोच रखते हो, लेकिन स्कूल से सटे एक साथ तीन मोबाईल टाॅवर से निकलती रेडिएषन की खतरनाक किरणे इनकी सेहत से खिलवाड कर केंसर, चर्मरोग, मानसिक रोगों की जद मे इन मासूमों को ले रहे है, पर इनकी सेहत से होते खिलवाड से अंजान नगर परिषद,मोबाईल कंपनियों पर कोई कार्यवाही करने की जहमत अब तक नही उठा पाया है, जबकि नियम कहते है कि स्कूल परिसर के आस-पास मोबाईल टावर लगाना निषेध है। टोंक शहर में एक दो तीन नही पूरे 47 मोबाईल टावर षहर की लगभग दो लाख की आबादी के लिये बिमारियां परोस रहे है और यही कारण है कि टोंक मे कैंसर जैसी बिमारी भी पैर पसार रही है, वही गर्भवति महिलाओं पर इसका खतरा सर्वाधित देखा जा सकता है तो मानसिक रोगियों की तादात भी बढ रही है, खूद चिकित्सक इस बात को मानते है कि मोबाईल रेडिएशन इंसानी सेहत के लिये खतरनाक है पर जिले के अधिकारियों को यह सब नजर नही आता है। आबादी क्षेत्रों मे साथ स्कूलों के आस-पास लगे मोबाईल टावर रेडिएषन बिखेर रहे है, वही इनके लाईसेंस देने की अनुमति मामलें मे नगर परिषद की भूमिका सर्वाधित संदेह के घेरे मे है कि रियायषी मकानों की छतों पर लगे मोबाईल टावर भी आंखो पर पट्टी बांधे क्यू नजर आये, वही बिना भू-उपयोग परिवर्तन के लगे टावरों पर भी नगर परिषद खामोश है। टोंक शहर पर मोबाईल टावर रेडिएषन का खतरा भले ही टोंक शहर की जनता की सेहत से खिलवाड कर रहा हो लेकिन अधिकारियों की मौन स्वीकृति इस बात का प्रमाण है कि मोबाईल कम्पनियांे का प्रभाव किस हद तक अधिकारियों पर है। ऐसे मे जनता की सेहत से होते खिलवाड से टोंक जिला प्रषासन को कोई सरोकार नजर नही है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *