January 18, 2019
Breaking News

Sign in

Sign up

गठजोड़ की राह पर आगे बढ़े कांग्रेस।

By on December 28, 2018 0 28 Views

 

अगले साल होने वाल आम चुनाव से पूर्व सेमीफाइनल की तरह माने जा रहे पांच राज्यों के चुनाव निपटने के बाद अब कांग्रेस पार्टी को आगामी बड़ी चुनावी जंग के लिए विभिन्न्ा दलों से गठजोड़ करने पर खास ध्यान देना चाहिए। इसमें कोई शक नहीं कि हिंदी पट्टी में भाजपा के खिलाफ 3-0 के स्कोरकार्ड ने इस पार्टी के मनोबल में जबर्दस्त इजाफा किया होगा, जो वर्ष 2014 से तकरीबन हरेक चुनाव हारते हुए गुमनामी की ओर बढ़ रही थी। लेकिन यहां इस तथ्य को न भूलें कि राजस्थान और मध्यप्रदेश में कांग्रेस पार्टी अपने दम पर बहुमत हासिल नहीं कर सकी। यह बताता है कि उसके पास भाजपा और खासकर नरेंद्र मोदी का मुकाबला करने के लिए पर्याप्त सांगठनिक ढांचा व ताकत नहीं है। उसे मित्रों और सहयोगियों की मदद चाहिए। यहां पर कांग्रेस की दुविधा और अनेक दिक्कतें नजर आती है, क्योंकि वह 2019 के लिए इसी एक संकल्प के साथ अपनी रणनीति तैयार कर रही है कि किसी भी तरह मोदी के विजयरथ को रोकना है, ताकि उन्हें दूसरा कार्यकाल न मिल सके।

इसके लिए सबसे पहले तो कांग्रेस को चुनाव-पूर्व औपचारिक गठबंधन को लेकर अपनी हिचकिचाहट छोड़नी होगी। कांग्रेस पिछले समय से विपक्षी एकता को लेकर बातें कर रही है। लेकिन उसने ऐसा कोई बठबंधन तैयार करने को लेकर वास्तव में ज्यादा कुछ नहीं किया है, जो एक बैनर तले आगामी चुनावी समर में उतरे। कांग्रेस के लिए 2019 के चुनाव में समान-विचारधारा के दलों के साथ सुपरिभाषित गठबंधन के बगैर जाने की महत्ता को नजरअंदाज करना अविवेकपूर्ण होगा। एक ऐसे इवेंट में, जिसमें किसी भी पार्टी को बहुमत न मिले (जिसकी संभावना हिंदी पट्टी में भाजपा की फिसलन को देखते हुए काफी ज्यादा है) राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद यह तय करने के लिए पिछले प्रकरणों की ओर देख सकते हैं कि सरकार गठन के लिए पहले किसे बुलाया जाए।

एक प्रमुख राष्ट्रीय दल होने के नाते यह कांग्रेस का जिम्मा है कि वह एक भाजपा-विरोधी मोर्चे की धुरी बने और चुनाव से पहले इसे आकार दे। कुछ दिन पूर्व द्रमुक के मुखिया एमके स्टाालिन द्वारा राहुल गांधी को प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार बनाने के आश्चर्यजनक प्रस्ताव के मूल में भी यही भाव निहित था। स्टालिन संभवतः कांग्रेस को उकसा रहे थे कि वह गठबंधन तैयार करने के कार्य को जल्द-से-जल्द पूरा करें।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!