November 20, 2018
Breaking News

Sign in

Sign up

  • Home
  • Tonk Special
  • डिग्गी कल्याण मंदिर मेले में अव्यवस्थाओ का बोलबाला।

डिग्गी कल्याण मंदिर मेले में अव्यवस्थाओ का बोलबाला।

By on August 20, 2018 0 376 Views

 

 महिला कॉस्टेबल की दादागिरी हुई कैमरे में कैद।

 श्रदालुओ ने कहा पुलिस वालों की मनमानी से परेशान ।

:- लाखो लोगो की आस्था का केंद्र डिग्गी कल्याण जी का लक्खी मेला पुलिस की दादागिरी,श्रदालुओ की परेशानी और मेला प्रसाशन की लापरवाही की भेंट चढ़ता नजर आ रहा है तो मंदिर की छत की रेलिंग टूटकर गिर जाने से एक बड़ा हादसा भी टल गया तो श्रदालुओ को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा और परेशान महिला श्रदालु पुलिस से उलझते नजर आए तो महिला कॉन्स्टेबल की एसी अकड़ देखने को मिली कि वही जिला पुलिस की मालकिन हो शायद संस्कार और तहजीब का पाठ तक उसे न पढ़ाया गया हो।

सावन महीने में राजस्थान के प्रसिद्द मंदिरों में से एक टोंक के डिग्गी कल्याण मंदिर में जयपुर की लक्खी पदयात्रा सहित दर्जनों पदयात्राएं पहुच रही है पर प्रसाशन के इंतजाम नाकाफी नजर आते है मंदिर स्थल पर सिर्फ पुलिस की दादागिरी कायम है और कोई श्रदालु अगर शिकायत करता है तो उसे धमकाया जाता है रविवार को मेले म ऐसा वाकया कैद हुआ ओर श्रदालुओ की शिकायत पर मोहर लगी कि मंदिर में दर्शन करने है तो पुलिस से सांठगाठ करो ,जब एक श्रदालु सोनू इसकी शिकायत कर रही थी और पुलिस उसे ही धमका रही थी तभी एक महिला कॉन्स्टेबल की यह हरकत जब मीडिया के कैमरे में कैद हुई तो सुमन पारीक में मीडिया को भी बड़े रोब से कैमरा बंद करने को धमकाया एक बार तो लगा मानो वह कोई बड़ी अधिकारी हो जब कि ऐसा व्यवहार बहुत कम देखने को मिलता है पुलिस का,खेर मेला स्थल पर श्रदालु परेशान है जूते चप्पल वापस पहनने के लिए उन्हें तालाब का 1 से डेढ़ किलोमीटर का चक्कर लगाकर वापस लौटना पड़ता है, रोडवेज ने भले ही 70 अतिरिक्त बसे लगाने की बात की हो पर यात्रियों की सुरक्षा भगवान भरोसे है और खुले आम रोडवेज की खटारा बसों में छतों पर सवार होकर यात्री सफर तय कर रहे है,वही डिग्गी के तालाब में एक व्यक्ति की मौत के बावजूद श्रदालुओ की सुरक्षा को लेकर पानी के पास कोई खास इंतजाम नही है और भगवान भरोसे ही यात्रियों की सुरक्षा है,आज जब लाखो की भीड़ पहुच रही है तो प्रसाशन को समय रहते जागना होगा नही तो कभी भी कोई बड़ा हादसा हो सकता है।

इस मेले में कैमरे में कैद कुछ तस्वीरों ने आमजन में विश्वास ओर अपराधी में डर रखने वाली पुलिस की कार्यशैली पर भी सवाल उठा दिए है। जी एक ऐसा ही मामला देखने को मिला है टोंक जिले के मालपुरा तहसील के डिग्गी में आयोजित  लक्की मेले में जब एक परिवार जयपुर से डिग्गी के लक्की  मेले में कल्याणधणी के दर्शन करने पहुँचा तो दर्शन करने के बाद उनके साथ एक वृद्धमहिला थी जो चलने में सक्षम नही तो उनके परिवार जनों ने ड्यूटी पर तैनात महिला कांस्टेबल से उन्हें शॉट रस्ते से भेजने को कहा तो महिला कांस्टेबल ने मना कर दिया,लेकिन महिला कांस्टेबल उस शॉट रस्ते से ओर लोगो व स्टाफ के लोगो को वहां से भेज रही थी इसी बात से नाराज होकर वृद्धमहिला की बेटी सोनू ने हंगामा कर दिया ओर  महिला कांस्टेबल से कहा कि आप ओर लोगो  को भी मत जाने दीजिये, यह बात कहने के बाद महिला कांस्टेबल सुमन पारीक ने परिवार जानो से बदसलूकी की ओर अपनी वर्दी का रोब दिखाने लगी, मामला जब मीडिया को पता चला तो मीडिया ने  कवरेज करना शुरू किया तो महिला कांस्टेबल सुमन पारीक ने मीडिया पर चिल्लाते हुए कैमरे बंद करवाने की कोशिश की ओर कहा कि मैं एसपी व आईजी से भी नही डरती हु।लेकिन जब बात मंदिर समिति को पता चली तो समिति की ओर से परिवार जनों को समझया ओर उनको वहां से भेजा गया।लेकिन बात पुलिस की करे तो मन्दिर परिसर में दर्शन करने आने वाले पद यात्रियों के साथ पुलिस बदसलूकी करती है।

लाखो श्रदालुओ की आस्था का केंद्र डिग्गी कल्याण मंदिर कल्याण धनी के जयकारों से गूंज रहा है और शायद श्रदालुओ की सुरक्षा का जिम्मा भी खुद कल्याण धनी के भरोसे छोड़ कर प्रसाशन भी चैन की नींद सो रहा है पर यह नींद कही भारी न पड़ जाए और कोई बड़ा हादसा न हो जाये।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!