March 22, 2019
Breaking News

Sign in

Sign up

  • Home
  • News
  • Photo
  • पुष्कर में नशे के कारोबारियों के हौसलें बुलंद…

पुष्कर में नशे के कारोबारियों के हौसलें बुलंद…

By on September 27, 2018 0 94 Views

नशा बेचते कैमरे में रिकॉर्ड कर लेने पर जी न्यूज के पत्रकार पर किया कातिलाना हमला…

पुलिस की मिलीभगत से जमकर फल फूल रहा है नशे का अवैध कारोबार….

राजस्थान में नशे का कारोबार अब खुलेआम  भी होने लगा है, नशे का कारोबार करने वाले लोग अब खुलेआम नशे की साम्रगी बेच रहे है। नशा बेचने वालों पर कारवाइ्र्र होती है लेकिन कार्यवाही सिर्फ नाम मात्र की होती है। धार्मिक नगरी पुष्कर में वैसे तो लगभग 3 दशक से नशे का काला कारोबार खुलेआम चल रहा है और आज तक कोई ऐसा पुलिस अधिकारी यहां नही आया जो इस गोरखधंधे को पूरी तरह से बंद करके पुष्कर तीर्थ की फिजाओं में घुलने वाले नशीले धुएं को रोक सके। परंतु नशे के इस कारोबार में जितनी तेजी बीते कुछ सालों में देखने को मिल रही है उतनी 3 दशक के इतिहास में कभी देखने को नही मिली। ना जाने कितने युवक खुलेआम मोटर साइकिलों पर घूमकर नशा बेचते हुए आसानी से देखे जा सकते है। ना जाने कितने लोग हर समय अपनी जेब मे चरस, स्मेक और गांजे की पुड़िया लिए घुमते रहते है। अब तो स्थिति यहां तक हो गई है कि नशा बेचने वाले लड़के बाकायदा पिज्जा बॉय की तरह घरों, रेस्टॉरेंट और फार्म हाउस तक मे बेखौफ होकर डिलीवरी देने पहुँच जाते है। जिन्हें रोकने वाला कोई नही होता।
नशे के काले कारोबार की इस हकीकत को जब पुष्कर के जी न्यूज संवाददाता अभिषेक शर्मा ने पिछले कुछ दिनों से एक स्टिंग ऑपरेशन के दौरान अपने कैमरे में कैद करके न्यूज चैनल पर उसका खुलासा किया तो नशे के सौदागरो के होश उड़ गए । अब तक जो काला कारोबार पर्दे की ओट में चल रहा था वह जगजाहिर हो चुका था । उसी का बदला लेने के लिए आज इस गोरखधंधे से जुड़े कुछ युवकों ने पत्रकार अभिषेक शर्मा पर उस वक्त कातिलाना हमला कर दिया जब वो अपने दोस्त के साथ बाजार में खड़े बात कर रहे थे । अचानक हुए इस घटनाक्रम के बाद अफरा तफरी मच गई । वही घायल हुए पत्रकार को तुरंत हॉस्पिटल ले जाया गया जहां उनके सिर  में 10 टांके लगाकर गंभीर हालत में अजमेर के जेएलएन हॉस्पिटल  रेफर कर दिया गया । फिलहाल अभिषेक न्यूरो वार्ड में एडमिट है जहां उसका इलाज चल रहा है ।
जिस तरह आज खुलेआम एक पत्रकार पर कातिलाना हमला हुआ उसे देखकर आसानी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि अपराधियों के हौसले कितने बुलंद हो चुके है । इनके बढ़ते हौसलों के पीछे की वजह है कि यहां के अपराधियों और पुलिस के कई जवानों के बीच रिश्तों जी जड़े बेहद गहरी हो चुकी है । पुलिस थाने में तैनात कुछ पुराने स्टाफ की मिलीभगत के चलते ही यहां नशे का कारोबार धड़ल्ले से फल फूल रहा है और किसी के खिलाफ कोई कार्यवाही नही की जाती । होती भी है तो नाम मात्र का 2, 4 ग्राम नशा बरामद करके इति श्री कर ली जाती है । जो बहुत ही सोचनीय बात है ।
हमले में घायल पत्रकार अभिषेक शर्मा की माने तो पुष्कर में इन दिनों चरस , स्मेक , गांजा , एक्सटसी जैसे नशीले पदार्थो का तो जमकर उपयोग हो ही रहा है लेकिन इसके अलावा बीते कुछ समय से घोड़ो को इलाज के दौरान बेहोश करने के लिये लगाए जाने वाले कैटामाइन इंजेक्शन का भी नशा किये जाने के लिए जमकर उपयोग हो रहा है । जिस कैटामाइन को उपयोग करने के लिए डॉक्टर हजार बार सोचता है और आसानी से उपलब्ध भी नही हो पाता , उसे यहां के नशेड़ी युवक हर रोज काम मे ले रहे है । ऐसा होने के चलते आज पुष्कर की युवा पीढ़ी भारी संख्या में कैटामाइन नशे की गिरफ्त में आ चुकी है । कईयों के घर बर्बाद हो चुके है । कई परिवारों की आने वाली नस्ले खराब हो चुकी है । लेकिन इस बारे में ना तो पुष्कर पुलिस के उन जवानों को चिंता है और ना ही स्थानीय नशे के सौदागरों को । इसी बात को उजागर करने की कीमत अभिषेक को जानलेवा हमले के रूप में चुकानी पड़ी है ।  एक पत्रकार के इस इस तरह की घटना को अजमेर एस पी राजेश सिंह ने बहुत गंभीरता से लिया है । साथ ही पुष्कर एवं अजमेर के पत्रकारों के शिष्ट मंडल को विश्वास दिलाया है कि पुष्कर थाने में तैनात सभी पुराने पुलिसकर्मियों को हटा दिया जाएगा और थाने में चल रही स्टाफ की कमी को भी जल्द दूर करके उनकी जगह पर नए पुलिस जाप्ते की नियुक्ति की जाएगी ताकि नशे के इस काले कारोबार पर अंकुश लगाया जा सके ।
Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!