January 18, 2019
Breaking News

Sign in

Sign up

  • Home
  • News
  • Photo
  • देश में पहली बार होगी तीन बैंकों का विलय, कैबिनेट ने दी मंजुरी

देश में पहली बार होगी तीन बैंकों का विलय, कैबिनेट ने दी मंजुरी

By on January 3, 2019 0 27 Views

बैकिंग क्षेत्र में संसोलीडेशन की प्रक्रिया को आगे बढाते हुए सरकार ने सार्वजनिक क्षेत्र के विजया बैंक और देना बैंक के बैंक आफ बड़ौदा में विलय को मंजूरी दे दी हैं। एक अप्रैल 2019 से ये तीनों बैंक मिलकर एक हो जाएगें। विलय के बाद यह बैंक एसबीआई के बाद देश का तीसरा सबसे बड़ा बैंक हो जाएगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में कैबिनेट ने बैंक आफ बड़ौदा में विजया बैंक और देना बैंक के विलय को मंजूरी दी। यह पहली बार है जब सरकार ने ती बैंकों के एक साथ विलय को मंजूरी दी है। कैबिनेट के फैसले की जानकारी देते हुए कानून मंत्री रविषंकर प्रसाद ने कहा कि यह विलय एक मजबूत तथा वैश्रिक स्तर पर प्रतिस्पर्धी बैंक बनाने में मदद मिलेगी। उन्होंने यह भी स्पश्ट किय कि विलय के बाद देना बैंक और विजया बैंक के सभी कर्मचारी बैंक आॅफ बड़ौदा में आ जाएगे और किसी भी कर्मचारी को निकाला नही जाएगा।

बैंक आफ बड़ोदा का होगा सबसे बड़ा शेयर

इस बीच बैंक आॅफ बड़ौदा ने शेयर बाजारों को विलय के तहत शेयरों के आदान प्रदान संबंधी फैसले से अवगत करा दिया है। इसके तहत देना बैंक आॅफ बड़ौदा के 110 षेयर मिलेंगे जबकि विजया बैंक के 1000 शेयरों के बदले 402 शेयर दिये जाएंगे। बुधवार को बैंक आॅफ बड़ौदा के शेयर के भाव 3.3 प्रतिशत गिरकर 119.40 पर रहा जबकि विजया बैंक का षेयर बिना किसी बदलाव के 51.05 रूपये रहा। बाजार बंद होने के समय देना बैंक के एक शेयर की कीमत 17.95 रूपये थी।

1 अप्रैल 2019 से लागू होगी योजना

स्रकारी वक्तव्य में कहा गया है कि विलय की योजना एक अप्रैल 2019 से प्रभावी होगी। विजय बैंक और देना बैंक के सभी स्थायी और भत्ते पर में कार्यरत थे। विलय के बाद बैंक का बौर्ड यह सुनिश्रित करेगा की जाए।

विलय के बाद अर्थव्यवस्था की जरूरतें होगी पूरी

सरकार का कहना है कि विलय के बाद यह बैंक बदलते माहौल में अर्थव्यवस्था की बढ़ती जरूरतों को पूरा करने, संसाधन जुटाने और आघात सहने में सक्षम होगा।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!