January 19, 2019
Breaking News

Sign in

Sign up

  • Home
  • Interview
  • Social Workers
  • पुलिस को पब्लिक फ्रेंडली बनाने पर विशेष ध्यान देंगे।

पुलिस को पब्लिक फ्रेंडली बनाने पर विशेष ध्यान देंगे।

By on December 22, 2018 0 36 Views

 

राजस्थान में कांग्रेस सरकार बनने के बाद गुरूवार रात को पुलिस महकमे में बड़ा बदलाव किया गया। जिसमें सरकार ने राजस्थान पुलिस के मुखिया की जिम्मेदारी आईपीएस कपिल गर्ग को सौंपी। 1983 बैच के आईपीएस कपिल गर्ग ने शुक्रवार सुबह पुलिस मुख्यालय में 32 वें डीजीपी के रूप में कार्य भार ग्रहण किया। इससे पहले कपिल गर्ग ने परेड गार्ड का सलामी निरीक्षण किया। साथ ही, पुलिस उच्चाधिकारियों और कर्मचारियों से मुलाकाल की। इसके बाद पदभार संभालने डीजीपी कक्ष में पहुंचे। जहां निवर्तमान डीजीपी ओपी गल्होत्रा ने कपिल गर्ग को यह पदभार सौंपा।

डीजीपी कपिल गर्ग पहली मंजिल पर पहुंचकर डीजीपी कक्ष के बाहर सोफे पर बैठे अपनी बड़ी बहन उषा जैन और जीजाजी पीके जैन के चरण स्पर्श कर आर्शीवाद लिया। डीजीपी ने कहा कि दुनिया में माता-पिता नहीं रहे। बड़ी बहन और जीजाजी का ही आर्शीवाद है। यह देख कपिल गर्ग की बहन की आंखे छलक आई। इसके बाद गर्ग ने डीजीपी का पदभार संभाला। इस दौरान उनकी पत्नि रचना गर्ग भी साथ मौजूद रही। गर्ग ने अपने संबोधन में कहा कि राजस्थान पुलिस को श्रेष्ठ बनाने में हमस ब की अहम भूमिका है। हम सब मिलकर विभाग को ऊंचाईयों पर ले जा सकते हैं। इसके लिए हर व्यक्ति को अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन करने में सर्वश्रेष्ठ देना होगा। ताकि जिस अपेक्षा से यह विभाग बनाया गया है। वह आमजन की भावनाओं पर खरा उतर सके। डीजीपी गर्ग ने कहा कि आम नागरिकों का विश्वास जीतने के लिए पुलिस को पब्लिक फ्रेंडली बनाने पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। गर्ग ने कहा कि जब हम आमजन का विश्वास जीतते है। उनसे व्यवहार अच्छा करते है। तब हम उनका स्नेह भी जीतते है। मैं यह विश्वास और स्नेह जीतकर इस पुलिस को आमजन का मित्र बनकर दिखाना चाहता हूं। यह मेरी महत्वाकांक्षा है। डीजीपी ने कहा कि माॅब लिचिंग से ज्यादा घृणित अपराध है। हमारा प्रयास होगा ऐसा अपराध नहीं हो और कहीं ऐसी घटना होती है तो जल्द से जल्द अपराधी पकड़ें जाएं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!