March 20, 2019
Breaking News

Sign in

Sign up

  • Home
  • News
  • Photo
  • पोते की चाह में पौती को डुबोया : मौत

पोते की चाह में पौती को डुबोया : मौत

By on October 27, 2018 0 59 Views

राजधानी जयपुर में शुक्रवार को एक दर्दनाक घटना देखने को मिली है। मुरलीपुरा थाना क्षेत्र की देवनगर कॉलोनी की 50 वर्षीय विमला देवी ने गुरुवार दोपहर अपनी दो माह की मासूम पोती दृष्टि को पोते की चाह में मार डाला। पहले तो उसने तकिये से मासूम का मुंह दबाकर हत्या का प्रयास किया, लेकिन सफल नहीं हुई, तो बच्ची को घर में बने पानी के टैंक में डुबोकर मार डाला। हैरान करने वाली बात यह है कि तीन बेटियों की मां होने के बावजूद विमला ने इस घटना को अंजाम दिया। घटना को करीब 24 घंटे तक छिपाया जाता रहा, लेकिन अस्पताल से सूचना मिलने के बाद पुलिस ने शुक्रवार को अलग-अलग एंगल से जांच की। संदेह के घेरे में आई दादी विमला से सख्ती से पूछताछ की तो उसने वारदात कबूल लिया। डीसीपी अशोक कुमार गुप्ता ने बताया कि बच्ची दृष्टि के पिता अनिल साबू कि परचूने की दुकान हैं। गुरुवार को वह दुकान पर चले गए। घर पर दृष्टि की मां गुड्डी व दादी विमला थी। पूछताछ में विमला ने कबूल किया कि उसने बहू को सफाई करने के लिए ऊपर वाले कमरे में भेज दिया। इसके बाद दृष्टि को तकिये से मारने का प्रयास किया। वह असफल रही तो उसे होद में डालकर सो गई। जब बहू नीचे आई और सास से बच्ची के बारे में पूछा तो उसके साथ बच्ची को तलाशने का ड्रामा किया। जब बच्ची नहीं मिली तो शोर-शराबा किया, पड़ोसियों को बुला लिया। जब बच्ची कहीं नहीं मिली तो खुद ने ही एक बार होद में देखने की बात कही होद में देखा तो बच्ची डूबी हुई मिली। मासूम को अस्पताल ले जाया गया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। पुलिस को संदेह हुआ कि ये बच्ची होद मंे खुद गिर नहीं सकती क्योंकि होद पर भारी ढक्कन था। बच्ची उसे हटा नहीं सकती थी तो गिरी कैसे? पूछताछ में यह भी सामने आया कि दादी ने ही बच्ची की तलाश के दौरान होद को भी देखने की बात कही। इस प्रकार पुलिस का विमला पर शक बढ़ता गया। ओर सख्ती से विमला पर कार्यवाई करने पर विमला ने जुर्म कुबुल लिया। बड़े ही दुख कि बात है कि आज के इस दौर में जब बेटीयें लड़कों से कदम से कदम मिलाकर चलती है तब भी इस प्रकार की घटनाओं को देखना पड़ता है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!