March 18, 2019
Breaking News

Sign in

Sign up

  • Home
  • Tonk Special
  • Health
  • सर्दी में हृार्ट रेट का ज्यादा व कम हो सकता है खतरनाक

सर्दी में हृार्ट रेट का ज्यादा व कम हो सकता है खतरनाक

By on December 19, 2018 0 67 Views

सर्दी के मौसम में तापमान के गिरावट के कारण दिल के स्वास्थ्य पर बुरा असर पडता है। हृार्ट रेट का अचानक ज्यादा व कम, दिल के अस्वस्थ होने का संकेत है। ठंड लग जाने के कारण, पुराने हृदय रोग की वजह से या फिर ज्यादा उम्र के लोगो में हार्ट रेट बढने के मामले बढ़ जोते हैं। ऐसे में अगर आप अपने जीवन में थोड़ा बहुत बदलाव करके सावधानी नहीं रखते हैं। तो हृार्ट रेट से जुड़ी समस्या आपके लिए खतरनाक हो सकती है।

एक व्यक्ति के हृदय की गति आमतौर पर 60 से 100 बीट्स तक होती है। आमतोर पर हृदय गति कई बातों पर निर्भर करती है इस लिए अगर आपका हृार्ट रेट सामान्य से थोड़ा बहुत ज्यादा व कम है, तो घबराएं नहीं। चक्कर आने, सिर दर्द या खिंचाव, दर्द, आंखो से धुंधला जैसी स्थितियों में तुंरत डाॅक्टर से संपर्क करें। यदी आप अपना हार्ट रेट जांचना चाहते हैं रात को सोते समय बिस्तर पर आराम की अवस्था में अपने दिल की धड़कन की गिनती करें।

नींद की कमी से चिंता, तनाव और स्लीपिंग डिसआॅर्डर जैसी समस्याएं होती हैं, जिसके कारण दिल की सेहत पर बुरा असर पड़ता है। इसलिए चिंता व तनाव छोड़े, ताकि आपको गहरी नींद आए। हमेशा सोने व जागने का एक निश्रिच समय तय करें और 7-8 घंटे की नींद जरूर लें। हमेशा मुस्कुराने और हंसने की आदत डालें। कई शोधों से पता चलता है कि अगर रोज 15 मिनट हंसा जाए तो इससे शरीर में रक्त का प्रवाह 22 परतिशत तक बढ़ जाता है।

रोजाना ज्यादा से ज्यादा 45 मिनट एक्सर्साइज जरूर करें। इससें शरीर और दिल स्वस्थ रहते है। एक्सर्साइज करने से शरीर की आर्टरीज लचीली बनती हैं, जिससे षरीर में रक्त का प्रवाह होता है और दिल को मजबुती मिलती है। इसके लिए जिम जाना ही जरूरी नहीं है रोजाना कुछ देर पैदल चलना , डांस करना और योग करना भी काफी है।

  Health
Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!