January 18, 2019
Breaking News

Sign in

Sign up

  • Home
  • News
  • Photo
  • करोड़ो की ठगी करने वाले गिरिफ्तार।

करोड़ो की ठगी करने वाले गिरिफ्तार।

By on October 25, 2018 0 59 Views

लगभग 8 करोड़ का लगाया था चुना..?

पैसे दुगने ओर प्लाटों के लालच में ठगे गए लोग।

करोली जिले की हिंडौन पुलिस ने सात से आठ करोड़ की ठगी करने वाले चिटफंड कंपनी के मालिक व शेयर होल्डर को  गिरफ्तार किया है इन ठगों ने लोगो को अमीर बनने के सपने दिखाते हुए करोड़ो की ठगी की थी पर सच्चाई पता चलने पर लोगो की आंख खुली ओर फिर पुलिस में मामले हुए थे दर्ज अब पुलिस ठगी के इस खेल की परतें खोलने में जुटी है।
हिंडौन

हिंडौन पुलिस ने ठगी के आरोपियों को किया गिरिफ्तार

हिण्डौन सिटी कोतवाली पुलिस ने बड़ी कार्यवाही करते हुए करोड़ो की ठगी करने वाली चिटफंड कंपनी मलवाचन इंफ्राइटरचर प्रोजेक्ट लिमिटेड के डायरेक्टर व शेयर होल्डर को लोगो से करोड़ों रुपए की ठगी करने के मामले में गिरफ्तार किया है और जांच में जुटी है कि ठगी का यह खेल कहा तक फैला है  हिण्डौन निवासी गजेन्द्र त्यागी एवं रामभरोसी गुर्जर ने पुलिस में मामले दर्ज करवाई थी कि कंपनी के डायरेक्टर एवं शेयर होल्डर के द्वारा बैंकिंग व्यवसाय हेतु हिण्डौन सिटी में कुछ कार्मिको व एजेंटो की आवश्यकता हेतु विज्ञापन जारी किया गया इस पर परिवादीगणों द्वारा आरोपियों से सम्पर्क करने पर आरोपियों के द्वारा कम्पनी को ईमानदार ओर समय पर निवेशकों को उनकी मेच्योरिटी राशि अदा करने वाली कम्पनी बताया। जिस सैकड़ो निवेशकों द्वारा करोड़ो रूपये जमा कराए गए। मैच्योरिटी समय आने पर  राशि का भुगतान नही किया गया। आरोपियों द्वारा कम्पनी में निवेशकों से हजारों रु मासिक तिमाही ,छमाही ,वार्षिक जमा करवाकर जमा राशि को 5 वर्ष में दुगुनी राशि या राशि के एवज में भूखण्ड देने का प्रलोभन देकर 7 से 8 रुपए की ठगी करने के मामले में चिटफंड कम्पनी के डायरेक्टर संजय वर्मा एवं शेयर होल्डर प्रवीण पटेल को इंदौर व अलवर जेल से प्रोडक्शन वारंट पर गिरफ्तार किया गया। देश मे आरोपियों पर लगभग सौ मामले दर्ज है। जिनकी सघनता से जांच की जा रही है।
अब करोड़ो की ठगी में गिरफ्तार इन ठगों की गिरिफ्तारी के बाद पुलिस इस खुलासे में जुटी है कि ठगी का यह खेल कहा तक फैलाया हुआ था और आखिर किस किस तरीके से लोगो को ठगने का यह खेल देश मे किस किस राज्य में जारी था।
Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!