March 18, 2019
Breaking News

Sign in

Sign up

  • Home
  • News
  • Photo
  • लोकसभा के बाद राज्यसभा में भी 10 प्रतिशत सवर्ण आरक्षण बिल पास।

लोकसभा के बाद राज्यसभा में भी 10 प्रतिशत सवर्ण आरक्षण बिल पास।

By on January 10, 2019 0 80 Views

राज्यसभा में बुधवार को सामान्य वर्ग को 10 फीसदी आरक्षण से जुड़ा संविधान बिल पास हो गया। पक्ष में 165 वोट डाले गए। वहीं 7 वोट इसके विरोध में पड़े। इससे पहले राज्यसभा में आरक्षण बिल को सेलेक्ट कमेटी के पास भेजने के समर्थन में 18 वोट पड़े जबकि इस प्रस्ताव के खिलाफ 155 सांसदों ने वोट किया। राज्यसभा में उपसभापति ने शीतकालीन सत्र में हुआ कामकाग का ब्यौरा देते हुए सदन की कार्यवाही को अनिश्चित काल के लिए स्थगति कर दिया है। सवर्ण आरक्षण बिल को कई सांसदों ने सेलेक्ट कमेटी के पास भेजने की मांग खारिज कर दी।

सवर्ण आरक्षण बिल को कई सांसदों ने सेलेक्ट कमेटभ् के पास भेजने की मांगी की है। इनमें से कनिमोझी, टी रंगराजन भी शामिल है। इन सांसदों के इस प्रस्ताव को ध्वनिमत से खारिज कर दिया गया है। अब राज्य सभा के भीतर बिल को सेलेक्ट कमेटी के पास भेजने के प्रस्ताव पर वोटिंग हो रही है। राज्यसभा में निर्दलीय सांसद अमर सिंह ने सवर्ण आरक्षण बिल का समर्थन करते हुए कहा कि जो लोग इस बिल का विरोध कर रहे हैं। वोेट क्यों दे रहे हैं। अगर ये बिल इतना ही खराब है तो वोटिंग न करें साथ ही उन्होंने कहा कि सवर्णों ने बहुत पहले से ही अपना मन बदल लिया है, दलित से रिश्ते कायम किए, रोटी-बेटी के संबंध बनाए। सवर्णाें के आरक्षण बिल पर कांग्रेस सांसद कुमारी शैलजा ने सकार पर निशाना साधते हुए कहा कि जब देश की जनता आपका साथ छोड़ने वाली है तब आप संसद के आखिरी सत्र में ये बिल ला रहे हैं। कुमारी शैलजा ने कहा कि यह बिल सुप्रीम कोर्ट में नही टिक पाएगा क्योंकि आपके पास अभी बहुत से सवालों का जवाब नहीं है, आप जनता को गुमराह कर रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि महिला आरक्षण बिल पर आपकी सरकार क्या कर रही है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!