March 18, 2019
Breaking News

Sign in

Sign up

  • Home
  • Others
  • Sports
  • भारत-वेस्टइंडीज दुसरा टेस्ट : रिकोर्डों की लगी झड़ी

भारत-वेस्टइंडीज दुसरा टेस्ट : रिकोर्डों की लगी झड़ी

By on October 15, 2018 0 80 Views

सीरीज के दूसरे मुकाबले में मेहमान इंडीज को 10 विकेट से हराया

भारतीय टीम ने घरेलू मैदान पर लगातार 10वीं सीरीज जीती।

पिछले 16 साल में भारत की विंडीज के खिलाफ लगातार सातवीं सीरीज जीत

भारत ने रविवार को वेस्टइंडीज के खिलाफ दो टेस्ट मैच की सीरीज में 2-0 से मेहमान टीम को क्लीन स्वीप कर कई रिकोर्ड अपने नाम दर्ज कर लिये। भारत ने दूसरे टेस्ट में वेस्टइंडीज को 10 विकेट से हराया। जबकि सीरीज के पहले मैच में पारी व 237 रन के बड़े अन्तर से मात दी थी। पिछले पांच साल में भारत ने घरेलू मैदान पर यह लगातार 10वीं सीरीज जीती है। भारतीय टीम ने आठवीं बार टेस्ट में 10 विकेट से जीत हासिल की। मैच में 10 विकेट लेने वाले उमेश यादव को मैन ऑफ द मैच चुना गया। वहीं, डेब्यू टेस्ट में शतक लगाने वाले सबसे युवा भारतीय बल्लेबाज पृथ्वी शॉ मैन ऑफ द सीरीज बने। इस टेस्ट में भारत को जीत के लिए 72 रन का लक्ष्य मिला, जो उसने 16.1 ओवर में बिना विकेट खोए हासिल कर लिया। पृथ्वी शॉ और केएल राहुल 33-33 रन बनाकर नाबाद रहे। तीसरे दिन 98 ओवर फेंके गए। इस दौरान 261 रन बने और 16 विकेट गिरे। इस टेस्ट में वेस्टइंडीज ने टॉस जीता और बल्लेबाजी का फैसला किया। उसने पहली पारी में 101.4 ओवर में 311 रन बनाए। जवाब में टीम इंडिया ने पहली पारी में 106.4 ओवर में 367 रन बनाए ओर 52 रन की बढ़त हासिल की। भारत की ओर से पहली पारी में पृथ्वी शॉ, अंजिक्य रहाणे और ऋषभ पंत ने अर्धशतक लगाए वहीं दूसरी पारी में बल्लेबाजी करने उतरे कैरेबियन बल्लेबाज भारतीय गेंदबाजों के सामने ज्यादा देर तक संघर्ष नहीं कर सके तथा उनकी दूसरी पारी महज 127 रनों पर ढे़र हो गई ओर भारतीय टीम को 72 रन का मामूली सा लक्ष्य मिला जिसे मेजबान भारत ने 10 विकट रहते पूरा कर लिया और सीरीज 2-0 से अपने नाम कर ली।

वेस्टइंडीज की टीम पिछले 16 साल से भारत के खिलाफ न तो कोई टेस्ट और न ही सीरीज जीत सकी। इस दौरान दोनों के बीच 21 टेस्ट हुए, जिसमें भारत 12 जीता, जबकि नौ टेस्ट ड्रॉ रहे। वेस्टइंडीज पिछली बार अपने घरेलू मैदान पर भारत के खिलाफ 2002 में सीरीज जीता था। तब से वेस्टइंडीज के खिलाफ भारत की यह लगातार सातवीं सीरीज जीत है। टीम इंडिया 1983 से घरेलू मैदान पर विंडीज के खिलाफ सीरीज नहीं हारी है। पिछले 35 साल में भारत में दोनों के बीच छह सीरीज हुईं। जिसमेें से भारत ने चार जीतीं। इस दौरान भारत में दोनों के बीच 17 टेस्ट खेले गए। जिसमें से भारत 10 और वेस्टइंडीज दो जीता। पांच टेस्ट ड्रॉ रहे।

उमेश टेस्ट में 10 या उससे ज्यादा विकेट लेने वाले तीसरे भारतीय तेज गेंदबाज
उमेश ने टेस्ट करियर में पहली बार 10 विकेट लिए। उन्होंने पहली पारी में 88 रन देकर छह और दूसरी पारी में 45 रन देकर चार विकेट लिए। वे एक टेस्ट में 10 या उससे ज्यादा विकेट लेने वाले भारत के तीसरे तेज गेंदबाज हैं। उनसे पहले कपिल देव और जवागल श्रीनाथ यह उपलब्धि अपने नाम कर चुके हैं। कपिल देव ने टेस्ट में दो बार 10 या उससे ज्यादा विकेट लिए हैं। वे इस टेस्ट में दो बार हैट्रिक पूरी करने से चूक भी गए।

पृथ्वी शाॅ डेब्यू में मैन ऑफ द सीरीज बनने वाले दुनिया के 10वें क्रिकेटर
जेसन होल्डर भारत में टीम इंडिया के खिलाफ 50़ रन और पांच विकेट लेने वाले विंडीज के दूसरे क्रिकेटर
राजकोट टेस्ट में भी शतक से चूके थे ऋषभ
ऋषभ पंत अपना दूसरा टेस्ट शतक लगाने से चूक गए। वे 92 रन बनाकर आउट हो गए। उन्हें शेनान गैब्रिएल की गेंद पर शेर्मोन हेटमेयर ने कवर में लपका। ऋषभ राजकोट टेस्ट में भी 92 रन पर आउट हो गए थे। उस मैच में उन्हें देवेंद्र बिशू ने अपना शिकार बनाया था। बिशू की गुगली पर ऋषभ मिडविकेट पर कीमो पॉल को कैच थमा बैठे थे।

21 अक्टूबर से वेस्टइंडीज के खिलाफ पांच वनडे की सीरीज होगी शुरू

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!