March 18, 2019
Breaking News

Sign in

Sign up

  • Home
  • Tonk Special
  • बदलाव का संकेत दे रहा है मतदान का प्रतिशत

बदलाव का संकेत दे रहा है मतदान का प्रतिशत

By on December 8, 2018 0 102 Views

 

राजस्थान में नई विधानसभा के गठन के लिए रात दस बजे तक की सूचना के अनुसार शुक्रवार को राज्य के 74.05 प्रतिशत मतदाताओं ने वोट डालें। देर रात तक तमाम जिलों के मतों को एकीकृत करने का काम चलता रहा। चुनाव आयोग के अनुसार मतदान का यह आंकड़ा बढ़ने के संभावना है। अब तक मिला मतदान प्रतिशत पिछले बार की तुलना में 1.62 प्रतिशत कम रहा। निर्वाचन आयोग ने भी स्वीकार किया है कि जितनी अपेक्षा थी, उसके मुकाबले मतदान कम रहा।

लेकिन पूरे राजस्थान में 15वीं विधानसभा के चुनाव में मतदान का 72 प्रतिशत हैं। यह बम्पर मतदान निश्चित रूप से बदलाव का संकेत दे रहा है। टी.वी. चैनलों ने भी सत्ता परिवर्तन के संकेत अवश्य दिए हैं। लेकिन राजस्थान में इस बार जो भारी मतदान हुआ उसमें युवावर्ग ने जमकर मतदान किया। गांव, शहर ओर कस्बों में भारी मतदान हुआ। सुरक्षा के लिहाज से भी मतदान शांतिपूर्ण राह। लगभग सभी मतदान केन्द्रों पर व्यवस्था में चुस्ती, फुर्ती एवं व्यवस्थित व्यवस्था देखने को मिली। कुछ जगह व्यवधान हुुआ लेकिन इतने विशाल प्रदेश में यह नगण्य है। जिस राजस्थान में 1952 के पहले चुनाव मे मुश्किल से 35 प्रतिशत मतदान हुआ हों वहां 66 साल बाद 72 प्रतिशत मतदान होना एक सुखद लोकतांत्रिक व्यवस्था के निरन्तर विकास का भी संकेत है। मतदान का यह प्रतिशत अंतिम प्रतिशत गणना के बाद तनिक बढ़ भी सकता है। मतदाताओं ने इस लोकतंत्र के महोत्सव में बढ़ चढ़कर उत्साह के साथ भाग लिया। चुनाव के दौरान फैली कटुता भी आज मतदान के साथ ही समाप्त हो गई। अब नया अध्याय शुरू होगा। 11 दिसम्बर के बाद, जब मतगणना के परिणाम आएगें। लेकिन भारतीय लोकतंत्र एवं यहा की जनतांत्रिक व्यवस्था व पंच परमेश्वर की आस्था के सरकार इन चुनावों में मजबूत ही हुए हैं। अब निर्भर करता है कि सभी दलों के राजनेता इस व्यवस्था और उसकी परम्परा के अनुसार व संवैधानिक तरीके से उसे कितना समृद्ध बनाते हैं। आज देश में सहिष्णुता, सौहार्द, राजनीतिक शुचिता एवं संवैधानिक मूल्यों के प्रति अधिक जागरूक रहकर उसे जन मानस मे बढ़ाने की जरूरत है। वह तभी होगा जबकि साध्य के अनुसार साधन अपनाएं जाएं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!