January 17, 2019
Breaking News

Sign in

Sign up

  • Home
  • Uncategorized
  • कहां से आ रहा है विस्फोटक…

कहां से आ रहा है विस्फोटक…

By on July 18, 2018 0 49 Views

टोंक जिले मे चेजा पत्थरों का अवैध रूप से खनन हो रहा है यह बात प्रषासन और संबंधित विभाग भी मानता है लेकिन उसकी रोकथाम पर उठाये जाने वाले कदम कितने नाकाफी है, यह इस बात से साबित होता है, जिला प्रषासन और पुलिस से यह तक ध्यान नही है कि पहाडों पर विस्फोट करने के लिये खनन माफियाओं के पास विस्फोटक सामग्री कहां से आती है और कैसे वह कानून की नजरों से बचाकर पहाडांे पर रोजाना विस्फोट करते है। टोंक जिला मुख्यायल सहित जिलेभर के पहाडी क्षेत्रांे मे होते अवैध खनन के चलते जहां अधिकतर पहाड खोखले हो चुके है, लेकिन जिला प्रषासन के कानों मे जूं तक नही रेगती, पहाडों पर होने वाले रोजाना ब्लास्टिंग के बावजूद अब तक खनन माफियाओं पर सिवाय मुकदमे दर्ज करवाने के अलावा कोई सख्त कार्यवाही अब तक नही की गई, लेकिन पत्थर माफियाओं के हौंसले इतने बुलंद है कि खनन के बाद पत्थरों से भरी ट्रेक्टर ट्रालिया वह धडल्ले संे दिन के उजाले मे ही चलाते दिखते है, वही पहाडों मे होती ब्लास्टिंग से आस-पास रहने वाले लोगो के घरो पर पत्थर मे गिरते है, जिससे कई बार लोग घायल हो चुके है,चाहे वह दुधिया बालाजी वनक्षेत्र या कच्चा बंधा क्षेत्र फिर गोली डूंगरी क्षेत्र और बहीर सभी जगह लोग अवैध खनन से होती ब्लास्टिंग से उडने वाले पत्थरों से परेषान है। चारो ओर से अरावली पहाडी श्रंखला से घिरे टोंक षहर की पहाडियों मे प्रतिदिन होते दर्जनों विस्फोटों के बावजूद प्रषासन और वन विभाग अवैध खनन पर काबू पाने बात करता है, लेकिन हकीकत यही है कि आये दिन बाहर से मंगवाये जाने वाले विस्फोटों के कारण पहाड खोखले हो चुके है, लेकिन सबसे बडा सवाल यही उठता है कि इतना सब होने के बावजूद प्रषासन और पुलिस की आंखे क्यूं नही खुलती कि इतनी बडी संख्या मे विस्फोटक आ रहे है तो कहा से आ रहे है वनकर्मी और उनके अधिकारी भी मानते है वनक्षेत्र मे पूर्ण रूप से अवैध खनन रूकवाना उनके बस की बात नही है। टोंक जिले मे सीमित संसाधनों के साथ निहत्थे वनकर्मी सामुहिक रूप से आने वाले खनन माफियाओ के सामने टिक नही पाते है, तो मारपीट खाकर पुलिस के पास मुकदमा दर्ज करवाने के सिवा कुछ नही कर पाते है, ऐसे मे क्षेत्र मे अवैध खनन बंद होने की बात करने वाले अधिकारियों के दावों की पोल खुलती नजर आती है, लेकिन हर बार बात इसी सवाल पर आकर रूक जाती है आखिर कहा से आ रहा है विस्फोटक और क्या कर रहा है पुलिस प्रषासन।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!