December 11, 2018
Breaking News

Sign in

Sign up

  • Home
  • Tonk Special
  • कांजी हाउस में तड़फती गोमाताए

कांजी हाउस में तड़फती गोमाताए

By on July 28, 2018 0 374 Views

कांजी हाउस में तड़फती गोमाताए

रामलीला मैदान बन रहा गोमाताओ पर जुल्म का गवाह ।
गांधी पार्क में बनाया गया अस्थायी कांजीहाउस विवादों में घिरता नजर आ रहा हैं, बरसों सें रामलीला रंगमंच के रूप मे रूप प्रसिद्ध रहे गांधी पार्क में गायों को रखने पर हुई गंदगी की षिकायत जहां मनोनित पार्षदों ने नगर परिषद प्रषासन को तुरंत अस्थायी कांजीहाउस को गांधी पार्क से दूसरी तरह षिफ्ट करने की मांग की। वही खुले आसमान में गायों को रखकर उनका सरंक्षण करने का नगर परिषद का दावा खोखला साबित हो रहा हैं। जबकि मुख्य मार्ग होने की वजह से शहर का सौंदर्य भी बिगड़ रहा हैं।
शहर के बीचो-बीच स्थित गांधी पार्क रंगमंच मैदान पर विचरण करती गायो कों भले ही नगर परिषद प्रषासन ने सड़कों पर होते हादसों के बाद बचाने के लिए यहां रखा हो, लेकिन बिना कोई व्यवस्था किए बनाए गए कांजीहाउस से हो रही गंदगी लोगो को रास नही आ रही हैं, शहर से बीच होकर जाने वाले वाले जयपुर रोड पर राहगीर रोजाना नगर परिषद प्रषासन की व्यवस्था पर सवालिया निषान खड़े कर रहे है जबकि गांधी पार्क क्षेत्र के निवासी भी इससे होने वाली गंदगी से परेषान हैं, लोगो की इसी परेषानी के चलते परिषद के मनोनित पार्षदो एवं स्थानीय लोगो ने आयुक्त से मिलकर तुरंत प्रभाव से इसे हटाने की मांग की हैं
वही दूसरी ओर गौषाला से जुडे लोग भी बरसात के दिनों में गायों को खुले में रखने के नगर परिषद प्रषासन के फैसले हैरान हैं हालांकि बेसहारा घुमती गायों की सुरक्षा एवं इनने होने वाले हादसों को रोकने के लिए किए गए प्रयास की प्रषंसा भी कर रहे है। हम आपकों बता दे गायों को गीले में रखना उनके स्वास्थ्य के लिए बिलकुल ठीक नही है और आमतौर पर गाय सुखे में रहना पसंद करती हैं जबकि गांधी पार्क मंे बनाई अस्थायी गौषाला ना ढकी हुई है और ना ही साफ सफाई के लिए कोई इंतजाम किए गए हैं ऐसे में गायों को दुर्घटनाओं से बचाकर गांधी पार्क में रखने के फैसले पर सवालिया निषान उठने लाजमी हैं।
वही उठते सवालों के जवाब में नगर परिषद आयुक्त का कहना हंै कि गांधी पार्क में बनाए अस्थायी कांजीहाउस में उन्हे 7 दिन के लिए रखा जाएगा, बाद में उन्हे शहर की अन्य गौषालाओं में भेज दिया जाएगा। वही इस दौरान अगर गायों के मालिक गाय लेने आते है तों उनपर जुर्माना लगाया जाता हैं ताकि वह दोबारा गायों को खुला ना छोडे, वही गांधी पार्क गंदगी की बात पर वह इसका दोष बरसात पर मंढते नजर आई कि बरसात को मौसम है गंदगी तो होगी फिर भी सफाई करवाई जा रही हैं लेकिन हकीकत देखी जाए तो जब से गायों को वहां रखा गया है वहां सफाई नही हुई हैं।
Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!