January 18, 2019
Breaking News

Sign in

Sign up

  • Home
  • News
  • Photo
  • खाद की किल्लत से परेशान किसान…

खाद की किल्लत से परेशान किसान…

By on November 27, 2018 0 85 Views
टोंक। देष के प्रधानमंत्री भले ही यूरिया खाद की किल्लत को नकारते हो लेकिन टोंक में पिछले एक पखवाड़े से यूरिया के एक-एक कट्टे के लिऐ किसानों घंटो लाइनों में लगना पड़ रहा हैं, जबकि गावों में खाद नही मिलने सें किसानों को जिला मुख्यालय पर आकर खाद खरीदने के लिए लाइनों में लगना पड़ रहा हैं। जबकि किसानों को पर्याप्त मात्रा में खाद नही दिलवाने के लिए किसान महापंचायत के राश्ट्रीय अध्यक्ष और आम आदमी पार्टी के टोंक विधानसभा से उम्मीदवार रामपाल जाट पिछले तीन दिन से प्रचार-प्रसार छोडकर घंटे धरना दे रहे हैं। यूरिया की बढ़ती मांग के बावजूद सरकारी दूकानों पर आवक होने कम से दुकानों के बाहर कई दिनों से किसानों का जमावड़ा लग रहा हैं। जिससे कई बार जाम के हालात भी बनते। जिससें निपटने के लिऐ पुलिस को किसानों पर सख्ती बरतनी पड़ रही हैं जबकि गांवों में तो किसानों को यूरिया मिल ही नही पा रहा हैं यही कारण है। षहर में यूरिया लोगो की तादात बढ़ रही हैं। आज एक फिर से यूरिया की गाडी आने की सूचना मिलते ही किसानों अलसुबह से सरकारी खरीद पर मिल रही यूरिया की दुकानों बाहर कतारों में आ खड़े हुए। किसानों का आरोप है बरसात नही होने से पहले ही किसानों की फसल खराब हो गई और सर्दी की फसल की बुआई षुरू की लेकिन गांवों में संचालित ग्राम सेवा सहकारी समिति पर आने वाले किसानों यूरिया नहीं मिलने से बैरंग लौटना पड रहा है।
वही जिला मुख्यालय पर भी मांग के अनुरूप यूरिया की आवक नही होने से दिनभर मशक्कत के बावजूद किसानों को पूरा यूरिया नहीं मिल पा रहा हैं। जरूरत के मुताबिक यूरिया नहीं मिलने से जहां किसान चिंतित हो रहे है वही गांवों से आने वाले किसानों की भीड़ को संभालने के लिए पुलिस को भी अतिरिक्त मेहनत करनी पड़ती हैं। करीबपुरा के रामंचद्र व देषराज ने बताया कि सरसों की पहली सिंचाई के साथ यूरिया की आवश्यकता पड़ रही है। जबकि जिले में संचालित ग्राम सेवा सहकारी समितियों में खाद नही मिलने से उन्हे मोटरसाईकिल से यहां आना पड़ता हैं उन्हे खाद मिल जाए लेकिन घंटो लाइन में लगने के बावजूद उन्हे एक-एक कट्टा नसीब हो रहा है आलम यह था कि कई तो पूरा परिवार ही कतार में लगा दिखाई पड़ा। देखते ही देखते ट्रक खाली हो गया। वही दूसरी ओर यूरिया की किल्लत को देखते हुए आम आदमी के पार्टी के उम्मीदवार किसान महापंचायत के राश्ट्रीय अध्यक्ष चुनाव प्रचार बंद कर किसानो को पर्याप्त मात्रा में यूरिया उपलब्ध करवाने के लिए तीन दिन से सुबह 10 बजे से 12 बजे तक धरना दे रहे है। जाट ने आरोप लगाया कि एक तरफ तो प्रधानमंत्री देष में खाद की किल्लत को नकार रहे हैं दूसरी ओर उनके राज में किसानों को अपने पैंसो खाद खरीदने के लिए पुलिस द्वारा अपमानित होना पड़ रहा हैं वही पिछले दिनों किसान महापंचायत ने ज्ञापन देकर गांव बंद कर करने की चेतावनी दी हैं महापंचायत के प्रदेश प्रवक्ता सुरेश ने बताया कि प्रत्येक गांव में पटवारी के माध्यम से मुख्य सचिव के नाम ज्ञापन सौंपा जाएगा। वही दूसरी ओर किसान नेताओं की माने तो किसानों को पर्याप्त मात्रा खाद नही मिलने से फसल की उत्पादन में कमी आएगी। जहां एक ओर पर्याप्त मात्रा में खाद की किल्लत से किसानों को परेषान होना पड़ रहा हैं दूसरी ओर कृशि विभाग के अधिकारी सिवाई आष्वासन के लिऐ कुछ नही कर पा रहा हैं अधिकारियों की माने लगातार खाद की गाडियां आ रही हैं लेकिन एक साथ इतनी बड़ी संख्या में आते हैं इसलिए पर्याप्ता मात्रा में खाद नही मिल पाता हैं।
Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!