January 18, 2019
Breaking News

Sign in

Sign up

  • Home
  • News
  • Photo
  • ऐशो आराम की जिन्दगी जीने के लिए बना फर्जी आईएएस : गिरफ्तार

ऐशो आराम की जिन्दगी जीने के लिए बना फर्जी आईएएस : गिरफ्तार

By on October 28, 2018 0 87 Views

आठवी पास फर्जी आईएएस के पास मिले नकली मौहर, पोस्टिंग लैटर एवं….

बयाना पुलिस ने शनिवार की रात फर्जी आईएएस बनकर एक शिफ्ट डिजार गाडी में राजस्थान सरकार एवं आईएएस वी.के.शर्मा नाम की प्लेट लगाकर ठगी करने वाले एक युवक व उसकी महिला मित्र को गिरफतार किया है। जिनके कब्जे से मिले सरकारी विभाग की नकली मौहर व कागजात, फर्जी पोस्टिंग लेटर सहित अन्य सामान को जप्त किया है। बयाना पुलिस कोतवाल खलील अहमद ने बताया कि नदबई थाना क्षेत्र के गांव लुहासा निवासी सौरभ शर्मा (35) साल पुत्र रामधन ब्राहमण है। जो आठवीं तक पढा है ओर गांव में पण्डिताई का काम करता था जिसके कई नेताओ एवं प्रशासनिक अधिकारीयों से पण्डिताई के काम के चलते जानकारी थी। इसी का फायदा उठाकर सौरभ शर्मा ने फर्जी एसआई वी.के.शर्मा बनकर दौसा के मेहदीपुर बालाजी से किराये की शिफ्ट डिजाइर गाडी कर उस पर आगे राजस्थान सरकार व उपर आईएएस वी.के. लिखवा कर लोगो को अपनी महिला मित्र के साथ ठगी का शिकार बनाने का काम शुरू कर दियां। यह युवक जल्दी पैसे वाला बनना चाहता था और मंहगी गाडियो में घूमने तथा अच्छा खाने पीने व कपडे पहनने का शौकिन हो गया था। इसी लिऐ इस युवक ने लोगो से सम्पर्क बनाकर ठगी शुरू कर दी। उसने बयाना के रसीद खां व उसके साथी से उनकी ट्रेन में पहचान हो गई और उसके महिला मित्र व उसने अपने आप को एसआई बनकर नौकरी लगवाने के नाम पर 35-35 हजार रूपया रसीद खां व उसके मित्र गजनुआ निवासी महावीर से उनके पुत्रो को नौकरी लगवाने के नाम पर ले लिये। और शनिवार को देर सांय फर्जी कागजात मौहर व नियुक्ती पत्र देकर उनसे और पैसा लेने की बात कही। इस पर रसीद ने उसे अपने घर बुलाया और वह गाडी से बयाना आया। जहां उसने नौकरी के और पैसे मांगे तथा कुछ कागजात दिखाऐ। रसीद को उस पर शक हो गया और उसने पुलिस को सूचना दी। जिसके बाद बयाना पुलिस ने उससे पूछताछ कर भरतपुर जिला कलैक्टर सन्दीप नायक से इस नाम का आईएएस होने की जानकारी ली तो मामला फर्जी निकला। जिस पर आरोपी को पुलिस ने महिला मित्र सहित गिरफ्तार कर लिया है तथा इसने पूछताछ मेें जयपुर, अलवर, करौली, भरतपुर सहित अन्य लोगो से ठगी करने की बात स्वीकारी है। तथा भरतपुर के सेवर थाने में व चिकसाना पुलिस थाने मे भी इसके खिलाफ मामले दर्ज है। इसके अलावा जयपुर में मंत्री कालूराम गुर्जर के नाम से भी इसने ठगी की थी जिसमें जयपुर पुलिस ने इसको गिरफ्तार किया था। पुलिस इस आरोपी व महिला से पूछताछ कर अन्य खुलासे होने की संभावना जता रही है। पूछताछ में गाडी के चालक मेहदीपुर बालाजी निवासी सम्पत्त कोली ने कहा कि गाडी मालिक से भी 50 हजार रूपया एसआई बनकर ठगी की है। और जयपुर, भरतपुर, अलवर, करौली, अजमेर आदि स्थानो पर नकली आईएएस बनकर कई दिनो से मुझे घूमा रहा है। सुचना के अनुसार सौरभ शर्मा आठवी पास है और गांव मे पंडिताई का काम करता है। वो ऐशो आराम कि जिन्दगी जीना चाहता था इसलिए उसने ऐशो आराम की जिन्दगी के लिए ठगी का सहारा लिया। इस अपराध में उसने अपनी गर्लफ्रेण्ड को भी शामिल कर लिया। अपनी महिला मित्र के साथ मिलकर वो अपने सपने पूरे करता तथा ओर लोगों को ठगता उससे पहले बयाना पुलिस ने आठवीं पास फर्जी आईएएस (सौरभ शर्मा) को अपनी साथी संग गिरफ्तार कर सलाखों के पिछे डाल दिया है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!