March 22, 2019
Breaking News

Sign in

Sign up

  • Home
  • Interview
  • Politician
  • कौन बनेगा जयपुर का महापौर की रेस जारी महापौर बनने के लिए दावेदारों ने ठोकी ताल

कौन बनेगा जयपुर का महापौर की रेस जारी महापौर बनने के लिए दावेदारों ने ठोकी ताल

By on December 22, 2018 0 98 Views

राजधानी जयपुर में महापौर अशोक लाहोटी के विधायक बनने के बाद अब कौन बनेगा जयपुर का महापौर की दौड़ शुरू हो गई हैं। वैसे तो नगर निगम में भाजपा का बोर्ड है और भाजपा का ही महापौर फिर से कुर्सी पर बैठेंगा। मगर राजस्थान विधानसभा चुनाव में मिली जीत के बाद सत्ता में लौटी कांग्रेस की नजर में अब राजधानी जयपुर के महापौर पद की खाली होने वाले कुर्सी पर है और यह दौड़ अब रोमांचक होने जा रही है।

भाजपा से महापौर बनना तय

राजधानी जयपुर के मौजूदा महापौर अषोक लाहोटी की विधायक पद की दौड़ जोर-षोर से जारी है। वैसे जयपुर नगर निगम में भाजपा के पार्शदों का पूर्ण बहुमत है। ऐसे में भाजपा से ही महापौर बनना तय है। लेकिन सत्ता के महासमर में भाजपा का गढ़ कहे जाने वाले राजधानी जयपुर में इस बार बुरी तरह भाजपा का किला ढहाने के बाद कांग्रेस के पार्शदों के पास वैसे तो महापौर बनने के लिए बहुमत नहीं है।

कांग्रेस की पूरे घटनात्रम पर पैनी नजर

विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को मिली जीत के बाद अब कांग्रेस इस समर में कूदने की तैयारी में है। वही भाजपा भी विधानसभा चुनाव में मिली हार के बाद अलर्ट मोड पर आ गई है। कांग्रेस के आला नेता निर्दलीय और भाजपा के पार्शदों के संपर्क में है और अगर ऐसा होगा तो कांग्रेस अपना महापौर बनाने में सफल हो सकती है। अब भाजपा सगंठन के आदेष का इंतजार कर रहे है और पार्टी का आदेष आने के बाद इस्तीफा देने की बात कह रहे है।

लाहोटी के महापौर बनते ही इस्तीफा की उठ रही मांग

अशोक लाहोटी के विधायक बनते ही कांग्रेस के पार्शद आक्रमक रूप में आकर महापौर पद से लाहोटी को इस्तीफा देने की मांग कर रहे है। कांग्रेस पार्शद व नेता उपनेता प्रतिपक्ष धर्मसिंह सिंघानिया ने कहा कि अगर 25 दिसंबर तक लाहोटी इस्तीफा नहीं देते तो कांग्रेस आंदोलन करेगी।

लोकसभा चुनावों पर दोनो दलों की नजर

राजधानी में महापौर का पद शहरी सरकार के लिहाज से सबसे अहम माना जाता है इसलिए हर पार्शद अपने आप को महापौर बनाने का सपना देख रहा है और अपने आला नेताओं के साथ मिलकर लाॅबिंग कर रहे है। …इसलिए दोनों ही राजनैतिक दलों में षहरी सरकार के सबसे अहम पद को पाने की होड मची हुई है। वैसे आम तौर पर यह परम्परा रही है कि महापौर को किसी कारणवश इस्तीफा देना पडे तो उपमहापौर को बौर्ड सर्वसम्मति से बोर्ड महापौर चुनता है। लेकिन इसके बावजूद भी उपमहापौर के अलावा भी भाजपा से कई चेहरे अपने लिए लाॅबिंग कर रहे है। विधानसभा चुनाव में हार का मुंह देख चुकी भाजपा राजधानी में अपने परम्परागत वोट बैंक स्वर्ण और वेष्य वर्ग को साधने के लिए इन वर्गो से आने वाले चेहरो पर दांव खेल सकती है। तो वही कांग्रेस भी महापौर पद के लि अपना दावेदार आगामी लोकसभा को चुनावों को देखते उतारने का मानस बना रही है। आईए एक नजर डालते है उन चेहरों पर जो दौड रहे है महापौर पद की दौड़ में। कौन बनेगा जयपुर का महापौर यह दौड फिलहाल तेज रफतार से चल रही है मगर भाजपा इस बार अपने नये महापौर के नाम की घोशणा करके लोकसभा चुनाव में हार का देखा है और षहरी सरकार का पद जनता को सिधे जोडने वाला पद माना जाता है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!