December 11, 2018
Breaking News

Sign in

Sign up

  • Home
  • News
  • Photo
  • टोंक में नही रूक रही चोरी की वारदातें…

टोंक में नही रूक रही चोरी की वारदातें…

By on October 27, 2018 0 137 Views

टोंक पुलिस के लिए सिरदर्द बने चोर…

टोंक। आगामी विधानसभा को लेकर जहां पुलिस और प्रशासन खूद के चाक चौबंद होने के दावें कर रहा हैं लेकिन हकीकत यह हैं शहर में पिछली चोरियों का खुलासा नही कर पा रही टोंक पुलिस के ऊपर नई वारदातों के खुलासे का भार लगातार बढ़ रहा हैं। शनिवार की रात शहर के इंडस्ट्रीयल ऐरिया में एक नमदा फैक्टरी में चोरों सेंट लगाकर चोरी की वारदात को अंजाम दिया और फैक्टरी मालिक को लगभग एक लाख की चपत लगाते चलते बने। खास बात यह रही शहर में हुई पिछली चोरी की वारदातों की तरह इस बार भी चोर सीसीटीवी कैमरे सहित उसकी डीवीआर मशीन भी उठा ले गए ताकि पुलिस उनका पता नही लगा सके। शहर के औद्योगिक क्षेत्र स्थित नमदा फैक्टरी में जांच पड़ताल करते एफएसएल और एकओबी का दल दरअसल कल रात को हुई चोरी की गुत्थी का सुलझाने की कौषिश कर रहे हैं लेकिन पिछले कुछ महिनों में टोंक पुलिस के लिए सिरदर्द साबित हुए चोरी की वारदातों में एक ओर वारदात जुड गई। और इस बार भी चोर पुलिस की नजरों से बचने के लिऐ सीसीटीवी का सेटअप भी उठा ले गए। नमदा फैक्टरी मालिक ने बताया कि कल रात को चौकीदार का फोन आया था कि फैक्टरी में लाइट चली गई और जिससें साधारण बात मानकर जल्द ही लाइट आने की बात कहकर मामले पर ध्यान नही दिया लेकिन सुबह फोन आया कि फैक्टरी में चोरी की वारदात हो गई।
मामलें की जानकारी मिलने पर फैक्टरी पहुंचने के बाद पता चला कि चोर फैक्टरी का लगभग एक लाख माल ले जाने के अलावा सीसीटीवी कैमरे और डीवीआर मशीन भी चुरा ले गए। सूचना के बाद पहुंची सदर थाना पुलिस और एफएसएल की टीम में मौका मुआयना कर मौके से साक्ष्य जुटाए। सदर थानाधिकारी जगदीश प्रसाद मीणा ने बताया कि चोरी की घटना का सूचना मिली थी जिसपर मौका मुआयना किया गया हैं। मौका देखने पर पता चला कि चोर फेक्टरी की टूटी हुई खिड़की में से आए और सीसीटीवी सेटअप रूप में आकर सामान और माल पर हाथ साफ कर चलते बने। जांच के बाद नियमानुसार कार्यवाही की जाएगी। हम आपकों बता दे पिछले दिनों राष्ट्रीय राजमार्ग के 12 के पास स्थित टेक्टर शोरूम और सर्विस सेंटर में हुई चोरियों की वारदातों की तरह इस बार भी चोर सीसीटीवी कैमरें का कनेक्षन हटाकर डीवीआर मशीन चुरा ले गए ताकि उनका सुराग पुलिस को ना लगे। वही फैक्टरी में रात को लाइट जाना भी सिर्फ इत्तेफाक ना होकर चोरी की वारदात अंजाम देने के लिए बनाए गए जाल का हिस्सा हो। बहरहाल शहर की पिछली चोरियों की वारदातों का खुलासा करने में नाकाम रही टोंक पुलिस के लिए एक ओर वारदात जुड गई जिनका उन्हे खुलासा करना है और उनके पास सीसीटीवी फुटेज नही हैं।
Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!