January 17, 2019
Breaking News

Sign in

Sign up

  • Home
  • Uncategorized
  • एक करोड़ की ठगी करने वाला आरोपी गिरफ्तार

एक करोड़ की ठगी करने वाला आरोपी गिरफ्तार

By on November 1, 2018 0 54 Views

 

भारतीय सेना में पैसे लेकर भर्ती कराने के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह के मुख्य आरोपी को बुधवार को गिरफ्तार कर लिया। यह कार्रवाई राजस्थान एटीएस एवं सैन्य इन्टेलिजेंस की टीम ने संयुक्त रूप की। एडीजी (एटीएस एवं एसओजी) उमेश मिश्रा ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी जैतसर जिला गंगानगर निवासी रामचन्द्र है जिसने आर्मी में भर्ती के नाम पर जोधपुर बाड़मेर, जालौर, नागौर तथा बीकानेर जिलों के करीब 50 अभ्यर्थियो से करीब एक करोड़ रूपये की धोखाधड़ी की है। सूचना के अनुसार एटीएस व सेना की इन्टेलिजेंस को विश्वसनीय मुखबिरों से सूचना मिली थी कि आरोपी रामचन्द्र फर्जी तरीके से सेना में युवाओं को भर्ती करवाने के नाम पर सुरतगढ़ में अभ्यार्थियों से मोटी रकम का सौदा करने वाला है। पुलिस की सूचना के अनुसार आरोपी रामचन्द्र एक फौजी थ जो आर्मी में से भाग गया था इसलिए वो भगोड़ा फौजी घोषित है। एडीजी उमेश मिश्रा ने बताया कि मुखबिरों की सुचना पर एटीएस के डीआईजी प्रुफल्ल कुमार को कार्रवाई की कमान सौंपी गई। उनके निर्देशन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक एटीएस (यूनिट जोधपुर) रमेश कुमार मार्य व पुलिस इंस्पेक्टर भूपेन्द्र सिंह के नेतृत्व में काॅन्स्टेबल बुद्धराज, मनहित सिंह व सीताराम की एक टीम गठित की। टीम ने मिलिट्री इन्टेलिजेंस के प्रभारी अधिकारी से सम्पर्क कर सुरतगढ़ में पैसे के लेनदेन होने की सम्भावित स्थलों पर खुफिया तौर पर निगरानी रखकर आसूचना प्राप्त की गई। कार्रवाई के दौरान सुरतगढ़-गंगानगर रोड एटीएस0 एवं मिल्ट्री इन्टलीजेन्स के द्वारा संयुक्त रूप से रैकी कर पावर हाउस के सामने सुरतगढ़ से जैतसर जिला गंगानगर निवासी रामचन्द्र पुत्र सुरजाराम को धरदबोचा।
डीआईजी प्रफुल्ल कुमार ने बताया कि आरोपी रामचंद्र भारतीय सेना में सिपाही के पद पर 2009 में भर्ती हुआ था। वह वर्ष 2014 से भगौड़ा हो गया था। तब से स्थानीय पुलिस तथा आर्मी आरोपी रामचंद्र की तलाश कर रही थी। आरोपी ने भारतीय सेना के पहचान पत्र का फायदा उठा कर ग्रामीण लोगों को आर्मी में भर्ती कराने का झांसा दिया। इसके बाद भारतीय सेना के कुटरचित दस्तावेजात तैयार कर फर्जी ज्वाईनिंग लैटर अभ्यर्थियों के निवास स्थान के पते पर भेज दिए और उनसे लाखों रुपए हड़प लिए। आरोपी द्वारा एक अभ्यर्थी से भर्ती के नाम पर तीन लाख 70 हजार रूपये प्राप्त किये जाते थे। आरोपी के निवास स्थान से अभ्यर्थियों के मूल दस्तावेजात तथा कूट-रचना में प्रयुक्त की गई आरोपी द्वारा बनवाई गई भारतीय सेना की फर्जी मोहरें बरामद की गई। आरोपी रामचंद्र के पास मौजुद दस्तावेजों से पता चला कि आरोपी द्वारा जोधपुर बाड़मेर, जालौर, नागौर तथा बीकानेर जिलों के करीब 50 अभ्यर्थियों से भर्ती के नाम पर करीब एक करोड़ रूपये से ज्यादा रकम की धोखाधड़ी कर चुका है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!