March 21, 2019
Breaking News

Sign in

Sign up

  • Home
  • Traveling
  • सामान चोरी होने पर चलती ट्रेन में शिकायत दर्ज करवा सकेंगे यात्री।

सामान चोरी होने पर चलती ट्रेन में शिकायत दर्ज करवा सकेंगे यात्री।

By on December 10, 2018 0 220 Views

 

मोबाइल एप पर दर्ज करवा सकेंगे सामान चोरी की शिकायत।

 

उत्तर पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी अभय शर्मा के अनुसार अरूण कुमार, आईपीएस, महानिदेशक-रेलवे सुरक्षा बल, रेलवे बोर्ड ने जयपुर में रेलवे सुरक्षा से जुडे़ विषयों का जायजा लिया और उनकों और अधिक कारगर व बेहतर बनाने के लिये दिशा निर्देश प्रदान किये। अरूण कुमार ने रेलवे सुरक्षा बल के बैरक का निरीक्षण किया और वहां की स्थिति तथा सुविधाओं के बारें में जानकारी प्राप्त की तथा सुरक्षा बल के जवानों को प्रदान की जा रही सुविधाओं को और बेहतर बनाने संबधी-सुझाव व दिशा निर्देश दिये। अरूण कुमार ने गणपति नगर स्थित अरवाली सभागृह में आयोजित सुरक्षा सम्मेलन में रेलवे सुरक्षा बल कर्मियों से संवाद कर उनसे कार्य संबंधित जानकारियां प्राप्त की तथा कार्यप्रणाली को बेहतर बनाने के लिये उनकी राय भी जानी। अरूण कुमार, महानिदेशक-रेलवे सुरक्षा बल ने पत्रकारों से वार्तालाप में बताया कि रेलवे बल यात्रियों की सुरक्षा व्यवस्था प्रदान करने के साथ-साथ उनकी समस्याओं के समाधान में भी अहम भूमिका का निर्वहन करता है। विगत त्यौहारी सीजन में टिकट दलाली तथा ई-टिकट प्रणाली के माध्यम से गैर कानूनी तरीके से टिकट बुक करवाने वाले एजेंटो पर पूरे देश में एक साथ छापे मार कर कार्यवाही की गई। उन्होंने बताया कि पहले रेलवे सुरक्षा बल के पास रेलवे सम्पति से जुडे़ विषय ही क्षेत्राधिकार में आते थे, अब यात्री सुरक्षा का कार्य भी रेलवे सुरक्षा बल के पास है, इसके लिये राजकीय रेलवे पुलिस के साथ समन्वय स्थापित कर कार्य को बेहतर तरीके से निष्पादित किया जा रहा है।

रेल यात्रा के दौरान सामान चोरी होने की शिकायतें अधिक आती है, इसको ध्यान में रखकर मोबाइल एप विकसति की जा रही है, जिसके माध्यम से चलती ट्रेन में भी यात्री अपनी शिकायत रजिस्टर करवा सकता है, जिस पर समयानुसार कार्यवाही करना संभव होगा। रेलवे पर गैर कानूनी करीके से ट्रेक पार करने वालों की संख्या बहुत अधिक है, इसके लिये रेलवे द्वारा नियमित तौर पर जागरूकता अभियान चलाये जाते है। तथा अभी रेलवे सुरक्षा बल को सम्पूर्ण भारतीय रेलवे पर ऐसे क्षेत्रों की पहचान करने का कार्य दिया गया है, जहां ट्रैक के आस-पास घनी आबादी है और गैर कानूनी तरीके से लोग टैªक पार करते हैं। इन क्षेत्रों की पहचान के पश्चात् भारतीय रेलवे पर 3000 किलोमीटर लाइनों के पास प्रोजेक्ट के तहत दीवारें बनायी जायेगी। स्टेशनों व टेªनों में सुरक्षा व्यवस्था को मजूबत बनाने के लिये सीसीटीवी कैमरे चरणबद्ध प्रक्रिया के तहत लगाये जा रहे है तथा आने वाले समय में सभी स्टेशनों तथा टेªनों की सुरक्षा व्यवस्था की माॅनिटरिंग इनके माध्यम से की जायेगी। साथ ही उन्होंने बताया कि रेलवे में आउटसोर्स से कार्य करने वाले व्यक्तियों का पुलिस सत्यापन अनिवार्य है ताकि संदेहप्रद व्यक्ति रेल कार्यो में न आ सके।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!