March 23, 2019
Breaking News

Sign in

Sign up

khabarplus18

पंचों पर चला कानून का डंड़ा।

By on October 31, 2018 0 65 Views

 

 

जोधपूर के बनाड़ थाना क्षेत्र में दो दिन पहले शादी के लिए पंचों द्वारा प्रताड़ित करने पर युवती ने जहर खा लिया था। चार्टर्ड अकाउंटेंट युवती के अनुसार बचपन की सगाई तोड़ने पर जातीय पंचों द्वारा प्रताड़ित करने, पुलिस को दी शिकायत वापस लेने के दबाव से आहत हो जहर खाने के मामले में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण ने गंभीरता से लेते हुए सख्त कार्रवाई की। प्राधिकरण ने मंगलवार को अध्यक्ष जिला एवं सेशन न्यायाधीश नरसिंहदास व्यास की अध्यक्षता में आपात बैठक बुलाई। इसमें हाईकोर्ट के समक्ष जातीय पंचों के खिलाफ प्रभावी कार्रवाई करने, पीड़ित पक्ष से वसूली राशि की पुर्नवसूली, रिट याचिका संस्थित करने के लिए हाईकोर्ट विधिक सेवा समिति को अनुशंषा पत्र जारी करने का निर्णय सर्वसम्मति से लिया गया। प्राधिकरण के सचिव रामदेव सांदू ने बताया कि बैठक में पीड़िता को लेकर अखबारों में प्रकाशित समाचार पढ़कर स्वप्रेरणा से संज्ञान लिया गया। बैठक में पारिवारिक न्यायालय के जज प्रदीपकुमार जैन, एडीएम विजयसिंह नाहटा, मुख्य महानगर मजिस्ट्रेट जोधपुर महानगर के जज जितेंद्र सांवरिया, राजकीय अधिवक्ता शंकरलाल सिनवाड़िया, श्रम एवं औद्योगिक न्यायालय की जज रेखा शर्मा, एडीसीपी (पश्चिम) अनंत कुमार सहित अन्य ने सर्वसम्मति से निर्णय लिए। इनमें पीड़िता को 50 हजार रु. अंतरिम प्रतिकर, निशुल्क पैनल अधिवक्ता उपलब्ध कराने, एमडीएम अस्पताल अधीक्षक को पीड़िता के उपचार व मेडिकल सुविधा निशुल्क उपलब्ध कराने के आदेश दिए गए। इस प्रकरण में राज्य महिला आयोग ने भी पुलिस से विस्तृत रिपोर्ट मांगी है। आयोग की निवर्तमान अध्यक्ष सुमन शर्मा ने बताया कि उनका कार्यकाल 19 अक्टूबर को पूरा हो चुका है, इसलिए उन्होंने इस संबंध में आयोग की सदस्य सचिव अमृता चैधरी से चर्चा की। चैधरी ने इस मामले की पूरी जानकारी जोधपुर पुलिस से मांगी है। शर्मा के अनुसार एक पढ़ी लिखी बेटी को ऐसा कदम उठाना पड़े, इससे गंभीर स्थिति क्या होगी? ऐसे मामले में तो दोषी के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए। बनाड़ थाने में दर्ज इस प्रकरण की जांच बदलने के बाद मंगलवार को एसीपी (एससी-एसटी सेल पश्चिम) नारायणसिंह ने बुधवार को जांच शुरू की। उन्होंने पीड़िता व परिवार के सदस्यों के बयान लिए, मौका मुआयना भी किया। सिंह के अनुसार फिलहाल पीड़ित पक्ष से अन्य लोगों के बयान भी लेने हैं। इसके बाद जांच की दिशा आगे बढ़ेगी। सूचना के अनुसार नैणों की ढाणी निवासी दिव्या चैधरी (23) की सगाई 15 साल पहले पाल रोड निवासी जीवराज पुत्र बंशीलाल से हुई थी। दिव्या ने शादी से मना किया। 2 माह से पंच दिव्या व परिवार पर दबाव बना रहे थे। दिव्या ने शिकायत पुलिस से की, पर केस दर्ज नहीं किया। उसने पुलिस कमिश्नर से मिलकर दो बार परिवाद दिए, पर बनाड़ थाने में केस दर्ज नहीं किया। तीसरी शिकायत पर 25 अक्टूबर को बनाड़ थाने में केस दर्ज किया। इसी दिन जातीय पंचायत बैठी व पीड़ित परिवार को आर्थिक दंड भरने का फरमान सुनाया। 2 दिन बाद पंचायत ने पीड़ित परिवार को धमकाकर 15 लाख रु. वसूले। पंचों से परेशान दिव्या ने 28 को थाने में जहर पी लिया था।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!