January 18, 2019
Breaking News

Sign in

Sign up

  • Home
  • News
  • Photo
  • सफाईकर्मी भर्ती को लेकर हड़ताल…

सफाईकर्मी भर्ती को लेकर हड़ताल…

By on August 9, 2018 0 169 Views
टोंक। (रोहित कुमार) नगर परिशद सफाई कर्मचारी भर्ती में हुई अनियमितताओं के विरोध में भर्ती वंचित रहे वाल्मिकी समाज के लोगों ने मांगे नही मानने पर आखिर का हड़ताल का रूख कर लिया और आज से सुबह घंटाघर सर्किल पर सफाई भर्ती में भ्रश्टाचार का आरोप लगाते हुए हड़ताल स्थल पर नगर परिशद सभापति या आयुक्त को बुलाने की जिद करने लगे हैं। दोपहर तक नगर परिशद से कोई प्रतिनिधि नही आने से हडताल पर बैठे रहे। टोंक नगर परिशद में सफाई कर्मचारियों की भर्ती नगर परिशद प्रषासन के लिए गले की फांस बनती जा रही है, भर्ती सें वंचित रहे वाल्मिकी समाज के लोग लगातार भर्ती में भ्रश्टाचार का आरोप लगाते हुए दोबारा फर्जी दोबारा करवाने पर अडे हैं। बार-बार प्रदर्षन करने और ज्ञापन देने के बावजूद मांगे नही मानने पर आखिरकार वंचितों ने घंटाघर सर्किल पर टेंट लगाकर हड़ताल षुरू कर दी।
वंचिता ने आरोप लगाया कि आरोप लगाया था कि नगर परिषद भर्ती में नियमो को ताक में रखकर नियुक्तियां दी गयी है जिसके कई बार सबूत ओर तथ्य भी ज्ञापन के माध्यम से प्रस्तुत करने के बावजूद सुनवाई नही होने से निराष होकर उन्हे हड़ताल का रास्ता चुनना पडा हैं। इससे पहले भी टोंक नगर परिषद में सफाईकर्मी भर्ती के लिए निकाली गई लॉटरी के माध्यम से सफाईकर्मियों की भर्ती में घोटाले का आरोप लगाते हुए वाल्मीकि समाज ने सभापति लक्ष्मी जैन और आयुक्त पर मिलीभगत के आरोप लगाते हुए टोंक सवाई माधोपुर सांसद सुखबीर सिंह जौनापुरिया,टोंक विधायक अजित मेहता ओर खुद सभापति लक्ष्मी जैन के सामने विरोध प्रदर्शन कर चुके है। चयन प्रक्रिया पर भी वाल्मिकी समाज के लोगो ने धांधली का आरोप लगाते हुए कहा कि इस भर्ती में अपने चहीतो को भर्ती किया गया है,वही वाल्मिकी समाज की महिलाओं सहित पुरूष इससे कुछ दिन पहले पूर्व नगर परिषद आयुक्त सीमा चौधरी के बंगले के बाहर धरना देकर बैठ कर चुके है, वही वाल्मिकी समाज के लोग सर्किट हाउस पहुचंकर सांसद सुखबीर सिंह जौनापुरिया ओर बीजेपी जिलाध्यक्ष से भी सफाई कर्मी भर्ती में की गई धांधली के बारे में प्रदर्शन कर अपनी बात रख चुके है,वही सांसद सुखबीर सिंह जौनापुरिया ने वाल्मिकी समाज के लोगो को आष्वासन भी देकर जांच करवाने की बात कही थी। नगर परिषद में सफाई कर्मचारियों की भर्ती को लेकर लॉटरी निकाली गई थी,लेकिन उस समय कोर्ट ने परिणाम घोषित करने पर रोक लगा रखी थी,लेकिन हाल ही में परिणाम आने के बाद वाल्मिकी समाज के लोगो ने इस भर्ती में धांधली का आरोप लगाते हुए कहा कि एक ही घर में 3 से 4 जनों का चयन किया गया हैं, लेकिन कई ऐसे परिवार है जिनके परिवार में एक भी नौकरी नही है, इस भर्ती में 48 साल के लोगो को भर्ती किया गया है तो नाबालिंग तक को भर्ती कर लिया गया इससे साफ जाहिर होता है कि इस सफाईकर्मी भर्ती में पूरी तरह धांधली की गई है, इसलिए जब तक उनकी मांगे नही मानी जाती है उन्होने हड़ताल पर रहने की घोशणा की हैं, साथ ही
मुख्यमंत्री की आगामी गौरव यात्रा को काले झंडे दिखाऐ जाने की चेतावनी दी।
हम आपकों बता दे सफाईकर्मियों के 391 पदों के लिए भर्ती निकाली गई थी, जिसके लिए हजारों आवेदन आए थे, लेकिन जब लॉटरी निकाली गई थी तब उसका परिणाम घोषित नही किया गया था,मामला हाईकोर्ट में जाने के बाद चयनितों के नाम सार्वजनिक नही किए गये थे, जब परिणाम घोषित किया गया तो वाल्मिकी समाज के लोगो ने भर्ती प्रक्रिया में धांधली का आरोप लगाते हुए हड़ताल शुरू  कर दी।
Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!