January 17, 2019
Breaking News

Sign in

Sign up

  • Home
  • Others
  • Technology
  • राजस्थान में पहली बार हुआ कटे पांव को जोड़ने का सफल आपॅरेशन

राजस्थान में पहली बार हुआ कटे पांव को जोड़ने का सफल आपॅरेशन

By on October 22, 2018 0 108 Views

युवक के एड़ी के ऊपर से कट गया था पांव, डाॅक्टरों ने माइक्रोसर्जरी से जोड़ा

केरू के पास स्थित बेरू गांव के निवासी अशोक चैधरी (18) का पांव एक दुर्घटना में ट्रैक्टर गिरने से एड़ी के ऊपर से कट कर अलग हो गया था। इस दुर्घटना ने आशोक व उसके परिवार को सदमें में डाल दिया कि अब क्या होगा। लेकिन गोयल अस्पताल में होनहार डॉक्टरों की टीम ने ऐसा कर दिखाया ओर कटे पांव का आॅपरेशन कर फिर से जोड़ दिया। अशोक का पैर वापस जुड़ने पर पूरे परिवार में खुशी की लहर है तथा अशोक अब पूरी तरह खतरे से बाहर है। हाॅस्पिटल के निदेशक डाॅ. आनंद गोयल का दावा है कि इस तरह का सफलतापूर्वक ऑपरेशन पूरे राजस्थान में पहली बार हुआ है। उन्होंने बताया कि कटी अंगुलियां, हाथ व पंजे को अब माइक्रोसर्जरी द्वारा समय रहते जोड़ा जा सकता है। डाॅक्टरों ने बताया किअ हादसे के बाद अशोक के पिता खुमाराम तुरंत कटे पांव के साथ अशोक को सीधे गोयल अस्पताल लेकर पहुंचे। रात करीब 12ः30 बजे वहां इमरजेंसी में पहुंचने पर मौजूद डॉक्टरों ने तुरंत माइक्रो सर्जन एवं प्रत्यारोपण विशेषज्ञ डॉ. सुशील नाहर को फोन कर बुलाया। डॉ. नाहर ने मरीज की जांच कर ऑपरेशन किया। डाॅ. नाहर ने बताया कि मरीज की स्थिति बहुत गंभीर थी, तुरंत ही टीम के साथ आॅपरेशन शुरू किया। करीब 10 घंटे चले ऑपरेशन में मरीज के पैर की एक उचय नस, मांसपेशियों व हड्डियों को जोड़ा गया। मरीज को 48 घंटे ऑब्जर्वेशन में रखा, मरीज अब खतरे से बाहर है। आॅपरेशन के दौरान डाॅ. नाहर की टीम ने अस्थि रोग विशेषज्ञ डाॅ. नरेंद्र यादव, डाॅ. शोभा पारीक, डाॅ. प्रकाश गुप्ता व आॅपरेशन थियेटर स्टाफ महेंद्र, शिवा व रतन शामिल थे। गोरलतलब है कि कुछ दिन पहले एक व्यक्ति की आंख में लगी बाॅल से परदे खिसकने के कारण उसकी आंख से दिखना बंद हो गया था तब भी गोयल हाॅस्पिटल के डाॅक्टरों ने उसकी आंख का आॅपरेशन कर उसकी दूबारा रोशनी लोटाई थी। इस बात से यह पता चलता है कि राजस्थान में भले ही सरकारी अस्पतालों में तकनीक व मशीनों की कमी या खराबी हो लेकिन निजी अस्पतालों में ऐसी कोई बात नहीं है ओर राजस्थान में भी चिकित्सक के क्षेत्र में सुधार हो रहा है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!