January 18, 2019
Breaking News

Sign in

Sign up

  • Home
  • News
  • Photo
  • पुलिस की कार्रवाई ने ली एक बेगुनाह की जान

पुलिस की कार्रवाई ने ली एक बेगुनाह की जान

By on October 23, 2018 0 78 Views

थाने से धक्के मारकर निकाला, तबियत बिगड़ने से मौत

राजधानी जयपुर में पुलिस की एक ओर शर्मनाक करतूत देखने को मिली है जब एक आम व्यक्ति अपने बेटे की जब्त की गई बाईक को लेने पुलिस स्टेशन गए तो वहां की पुलिस ने उनके साथ ऐसा व्यवहार किया जैसे वो बेटे की बाईक नहीं बल्कि उनसे उधार मांग रहे हो। दरअसल, घटना सोमवार की है जब कोचिंग में पढ़ाई कर घर लौट रहे दो छात्रों को पुलिस ने हेलमेट न पहनने के लिए रोका और बाइक जब्त कर करणी विहार थाने ले गई। बाद में पिता को मालूम चला तो वो आवश्यक कागजात लेकर थाने पहुंचे। पिता वेदनाथ चैधरी से पुलिस ने गाली-गलौज की और उन्हें धक्के मारकर बाहर निकाल दिया, इस बदसलूकी से आहत वेदनाथ को थाने में ही उल्टियां होने लगीं। तबियत ज्यादा बिगड़ने पर परिजन उन्हें नजदीकी अस्पताल ले गए, जहां उनकी मौत हो गई। इस घटना के बाद परिजनों ने हंगामा कर दिया। गुस्साए परिजनों ने शव लेने से इनकार किया तो अस्पताल प्रशासन ने शव को बाहर रखवा दिया। इसके बाद परिजन शव को देर रात 11ः30 बजे थाने ले गए और धरने पर बैठ गए। पुलिस देर रात तक समझाइश करती रही, लेकिन वे नहीं माने। परिजनों की एक ही मांग थी कि आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ तुरंत कार्रवाई की जाए। सूचना के मुताबिक जगदंबा नगर निवासी राकेश चैधरी व गजसिंहपुरा निवासी रविन्द्र शाह सोमवार शाम को कोचिंग क्लास पूरी कर बाइक से घर जा रहे थे। रास्ते में करणी विहार थाना पुलिस ने बिना हेलमेट होने पर दोनों को रोक लिया और बाइक को जब्त कर ली। परिजनों ने कहा कि राकेश के पिता वेदनाथ चैधरी गाड़ी के कागजात दिखाने ही थाने गए थे। लेकिन कानून के रखवालों ने उनके साथ दुश्मनों कि तरह व्यवहार किया। परिजनों ने कहा कि पुलिस कार्रवाई कर देती। गाली-गलौज और धक्के मारने की क्या जरूरत थी। पुलिस का यह रवैया बहुत गलत है। साथ ही पुलिस ने ये भी बता दिया कि पुलिस का आम जन के खिलाफ कार्रवाई करने का कैसा तरीका है तथा रक्षा करने वाले ही ऐसा करेगें तो ओरो की क्या कहे।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!