November 13, 2018
Breaking News

Sign in

Sign up

  • Home
  • Others
  • Technology
  • इस बार 40 प्रतिशत कम बिके पटाखे।

इस बार 40 प्रतिशत कम बिके पटाखे।

By on November 7, 2018 0 15 Views

सुप्रीम कोर्ट की फटकार के बाद दिल्ली में पटाखों की बिक्री में नरमी।

 

राजधानी दिल्ली में पर्यावरण को लेकर लोगों में आई जागरुकता और पटाखे फोड़ने पर सुप्रीम कोर्ट की फटकार के चलते इस बार पटाखों की बिक्री दिल्ली में 40 फीसदी घट गई है। राजधानी दिल्ली में प्रदूषण का स्तर इतने खतरनाक स्तर पर चला गया है कि सरकार ने लोगों से पटाखा मुक्त दिवाली मनाने की अपील जारी कर दी। इन सभी कारणों के चलते 20 हजार करोड़ रुपए का पटाखा बाजार अब इस उम्मीद से है कि आने वाले साल में ईको फ्रैंडली पटाखों को लेकर नई नीति बन जाएगी, जो पर्यावरण की रक्षा भी करेगी और इस व्यवसाय से जुड़े लोगों का रोजगार भी बचा सकेगी। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार इस बार दिल्ली में दिवाली के दिन रात 8 से 10 बजे 2 घंटे ही पटाखे फोड़े जाएंगे। ऐसे स्थिती में दिल्ली में ईको-फ्रेंडली और ग्रीन पटाखों की मांग बढ़ गई है। ईको-फ्रेंडली दिवाली को बढ़ावा देने के लिए काउंसिल ऑफ साइंटिफिक एंड इंडस्ट्रियल रिसर्च (सीएसआईआर) के वैज्ञानिकों ने कम प्रदूषण करने वाले पटाखे बनाए हैं। यह पटाखे न केवल ईको-फ्रेंडली हैं बल्कि पारंपरिक पटाखों से सस्ते भी हैं। पटाखा निर्माता और बेचने वाले संगठन के राष्ट्रीय सचिव प्रवीण खंडेलवाल का कहना है कि हमारा व्यवसाय पूरी तरह मौसमी है। यानी इसका 80 फीसदी व्यवसाय केवल दिवाली में ही होता है। इसलिए आने वाले समय के लिए सरकार को एक नीति तो बनानी होगी। जिससे हमारा भी रोजगार चल सके। याद रहे कि भले ही ग्रीन पटाखे चलाने का आदेश हो लेकिन ग्रीन पटाखों की आवाज पारंपरिक पटाखों की तरह ही होगी।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!