March 26, 2019
Breaking News

Sign in

Sign up

  • Home
  • Interview
  • Social Workers
  • ख्वाजा गरीब नवाज के दर पर जमा हुए हजारों लोग

ख्वाजा गरीब नवाज के दर पर जमा हुए हजारों लोग

By on October 17, 2018 0 118 Views

महान सूफी संत ख्वाजा गरीब नवाज की महाना छठी में उमड़े अकीदतमंद

महान सूफी संत हजरत ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती की महाना छठी मंगलवार को शान और शौकत के साथ मनाई गई। दरगाह में हुई इस रस्म में शरीक होने के लिए अकीदतमंदों की भीड़ उमड़ी। इस मौके पर दरगाह क्षेत्र में अच्छी खासी रौनक बनी रही। इस्लामी कैलेंडर के दूसरे महीने यानी सफर उल मुजफ्फर की 6 तारीख के मौके पर आज गरीब नवाज की छठी की रस्म अदा की गई। दरगाह के अहाता ए नूर में सुबह 9 बजे कुरान शरीफ की तिलावत से छठी की रस्म का आगाज हुआ। इस मौके पर दरगाह परिसर जायरीनों से खचाखच भरा हुआ था। बड़ी संख्या में महिला व बच्चे भी काफी संख्या में देखने को मिले। शिजरा ख्वानी के बाद सलातो सलाम पेश किया गया। दरगाह के खादिमों ने यह रस्म अदा कराई। फातिहा के बाद देश और प्रदेश में अमन और खुशहाली के लिए दुआ की गई। इस मौके पर अंजुमन सैयदजादगान, अंजुमन शेखजादगान और गरीब नवाज सेवा समिति की ओर से तबर्रुक पर नियाज दिला कर लंगर तकसीम किया गया।
छठी को शान व शौकत से मनाने के लिए दरगाह क्षेत्र में काफी दिनों पहले से तैयारी शुरू हो गई थी। छठी शरीफ में भाग लेने के लिए देश के विभिन्न हिस्सों से जायरीन अल सुबह ही दरगाह पहुंच चुके थे। दरगाह में स्थित शाहजहांनी मस्जिद, अकबरी मस्जिद और संदल खाना मस्जिद में फजर की नमाज में आम दिनों से अधिक नमाजी थे। दरगाह क्षेत्र में जायरीन की चहल-पहल से खासी रौनक बनी रही। आस्ताना शरीफ के बाहर अकीदतमंद सिर पर मखमल की चादर और अकीदत के फूल की टोकरी लिए अपनी बारी का बेसब्री से इंतजार करते नजर आए। खुद्दाम ए ख्वाजा जायरीन को जियारत करा रहे थे। यह सिलसिला दोपहर तक जारी रहा।

इस्लाम में बड़ा दर्जा है ख्वाजा गरिब नवाज का

हजरत मोईनुद्दीन चिश्ती अजमेरी जिन्हे ख्वाजा गरीब नवाज के नाम से भी जाना जाता है। ख्वाजा मोईनुद्दीन चिश्ती इस्लाम धर्म के एक ऐसे महान सूफी संत रहे है। जिन्होने इस्लाम के सुखते दरख्त को फिर से हरा भरा किया। जो गरीबो के मसीहा थे। खुद भूखे रहकर दुसरो को खाना खिलाते थे। जो दीन दुखियो के दुखो को दूर करते थे। जो पाप को पुण्य में बदल देते थे। वो अल्लाह के सच्चे बंदे थे। अल्लाह ने उन्हे रूहानी व गअबी ताकते बख्शी थी। जिनके मानने वालो की आज भी एक विशाल संख्या उनकी जियारत करने दरगाह पहुंचती हे। ख्वाजा मोईनु६िन हसन चिश्ती की लोगो के दिलों में वह जगह है कि जिनको इस्लाम धर्म के लोग ही नही हिन्दू सिख आदि अन्य सभी धर्मो के लोग मानते है। जिनके मानने वालो में राजा से लेकर रंक, नेता से लेकर अभिनेता तक सभी लोग मानते है और ख्वाजा गरीब नवाज की जियारत के लिए हमेशा लयलित रहते है। जिनकी दरगाह आज भी हिन्दुस्तान की सरजमी को रोशन कर रही है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!