August 21, 2018
Breaking News

Sign in

Sign up

  • Home
  • News
  • Video
  • क्यों लगे लक्ष्मी जैन मुर्दाबाद के नारे….

क्यों लगे लक्ष्मी जैन मुर्दाबाद के नारे….

By on August 6, 2018 0 185 Views

टोंक। (रोहित कुमार) जिला मुख्यालय पर आज एक बार फिर से नगर परिशद सफाई कर्मचारी भर्ती में हुई भारी अनियमितताओं के विरोध में भर्ती वंचित रहे वाल्मिकी समाज के लोगो ने नारेबाजी करते हुए जिला कलेक्ट्रेड पर धरना प्रदर्शन किया। प्रदर्षन करते लोगो ने भर्ती की जांच की मांग करते हुए जिला कलेक्टर को ज्ञापन दिया। और कहा कि भर्ती की निश्पक्ष जांच नही हुई तो मुख्यमंत्री की गौरव यात्रा को काले झण्डे दिखाऐ जायेगे।

26 जुलाई को वाल्मीकि समाज के महिला-पुरुषों ने गांधीपार्क से लेकर टोंक कलेक्ट्रेड तक सफाई कर्मचारियों की भर्ती में घोटाले का आरोप लगाते हुए प्रदर्शन किया था और मुख्यमंत्री के नाम एसडीएम को ज्ञापन प्रेषित किया था,जिसमे आरोप लगाया था कि नगर परिषद भर्ती में नियमो को ताक में रखकर नियुक्तियां दी गयी है जिसके सबूत ओर तथ्य भी ज्ञापन के साथ प्रस्तुत किये गए,इसके बाद प्रदर्शनकारियो ने नगर परिषद कार्यालय के बाहर आकर भी प्रदर्शन किया और सभापति ओर आयुक्त के खिलाफ नारेबाजी की। इससे पहले भी टोंक नगर परिषद में सफाईकर्मी भर्ती के लिए निकाली गई लॉटरी के माध्यम से सफाईकर्मियों की भर्ती में घोटाले का आरोप लगाते हुए वाल्मीकि समाज ने सभापति लक्ष्मी जैन और आयुक्त पर मिलीभगत के आरोप लगाते हुए टोंक सवाई माधोपुर सांसद सुखबीर सिंह जौनापुरिया,टोंक विधायक अजित मेहता ओर खुद सभापति लक्ष्मी जैन के सामने विरोध प्रदर्शन कर चुके है। चयन प्रक्रिया पर भी वाल्मिकी समाज के लोगो ने धांधली का आरोप लगाते हुए कहा कि इस भर्ती में अपने चहीतो को भर्ती किया गया है,वही वाल्मिकी समाज की महिलाओं सहित पुरूष इससे कुछ दिन पहले नगर परिषद आयुक्त सीमा चौधरी के बंगले के बाहर धरना देकर बैठ कर चुके है,वही वाल्मिकी समाज के लोग सर्किट हाउस पहुचंकर सांसद सुखबीर सिंह जौनापुरिया ओर बीजेपी जिलाध्यक्ष से भी सफाई कर्मी भर्ती में की गई धांधली के बारे में प्रदर्शन कर अपनी बात रख चुके है,वही सांसद सुखबीर सिंह जौनापुरिया ने वाल्मिकी समाज के लोगो को आष्वासन भी देकर जांच करवाने की बात कही थी। नगर परिषद में सफाई कर्मचारियों की भर्ती को लेकर लॉटरी निकाली गई थी,लेकिन उस समय कोर्ट ने परिणाम घोषित करने पर रोक लगा रखी थी,लेकिन हाल ही में परिणाम आने के बाद वाल्मिकी समाज के लोगो ने इस भर्ती में धांधली का आरोप लगाते हुए कहा कि एक ही घर में 3 जनों का चयन किया गया है,लेकिन कई ऐसे परिवार है जिनके परिवार में एक भी नौकरी नही है,इस भर्ती में 48 साल के लोगो को भर्ती किया गया है तो नाबालिंग तक को भर्ती कर लिया गया इससे साफ जाहिर होता है कि इस सफाईकर्मी भर्ती में पूरी तरह धांधली की गई हैं।

जिले में सफाईकर्मियों के 391 पदों के लिए भर्ती निकाली गई थी, जिसके लिए हजारों आवेदन आए थे,लेकिन जब लॉटरी निकाली गई थी तब उसका परिणाम घोषित नही किया गया था,मामला हाईकोर्ट में जाने के बाद चयनितों के नाम सार्वजनिक नही किए गये थे,जब परिणाम घोषित किया गया तो वाल्मिकी समाज के लोगो ने भर्ती प्रक्रिया में धांधली का आरोप लगाया है,आज भी मोहसिन रशीद के नेतृत्व में वाल्मिकी समाज की महिलाएं और पुरूष गांधी पार्क से रैली निकालते हुए नगर परिशद व सभापति लक्ष्मी जैन मुर्दाबाद के नारे लगाये गये। और चेतावनी दी है कि अगर निश्पक्ष जांच नही हुई तो मुख्यमंत्री की गौरव यात्रा को काले झण्डे दिखाए जायेगे।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *